अमरीकी सरकार ने दी कॉविड-19 वैक्सीन की मंजूरी

अमेरिका ने शुक्रवार को देश के सबसे पहले कॉविड-19 वैक्सीन को मंजूरी दे दी है, अब अनुमान यह लगाया जा रहा है कि जिस महामारी ने 300,000 अमरीकियों की जान ले ली अब उसपर लगाम लगेगा। खाद्य और औषधि प्रशासन ने फाइजर इंक और उसके जर्मन साझेदार बायोएनटेक के द्वारा वादा किए गए वैक्सीन की
 | 
अमरीकी सरकार ने दी कॉविड-19 वैक्सीन की मंजूरी

अमेरिका ने शुक्रवार को देश के सबसे पहले कॉविड-19 वैक्सीन को मंजूरी दे दी है, अब अनुमान यह लगाया जा रहा है कि जिस महामारी ने 300,000 अमरीकियों की जान ले ली अब उसपर लगाम लगेगा।

खाद्य और औषधि प्रशासन ने फाइजर इंक और उसके जर्मन साझेदार बायोएनटेक के द्वारा वादा किए गए वैक्सीन की जब आपूर्ति होगी तब सबसे पहले स्वस्थ्य कार्यकर्ताओं एवं नर्सिंग होम में काम कर रहे सभी लोगों को लगाया जाएगा। शुरुआती खुराक कम हैं और सर्दियों के पहले अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण करने के लिए कई अन्य देशों के साथ अमेरिका भी वैक्सीन की आपूर्ति में अपना नाम दर्ज करा लिया है। हाल के सप्ताहों में तबाही का स्तर बढ़ाने वाले कोरोनोवायरस को कम करने के लिए कई महीनों तक काम करना होगा।

एफडीए का यह निर्णय सार्वजनिक समीक्षा के बाद लिया गया है। लेकिन माना यह जा रहा है कि यह फैसले का ट्रम्प प्रशासन के राजनीतिक दबाव से भी प्रभावित हुआ है। जिन्होंने एजेंसी पर धीमा काम करने आरोप लगाते हुए एफडीए प्रमुख स्टीफन हैन को हटाने की धमकी दी थी।

यह कदम यह निर्धारित करता है कि अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान क्या होगा और यह उन सभी देशों के लिए एक उदाहरण होगा जो इसी निर्णय को लेने में दुविधा में हैं। विश्व को सभी के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की भी आवश्यकता है।

“मुझे नहीं लगता कि आपको इस ग्रह पर एक भी ऐसा वैज्ञानिक मिल गया होगा जिसने 11 महीने पहले इसकी भविष्यवाणी की होगी,” बच्चों के फिलाडेल्फिया अस्पताल के वैक्सीन विशेषज्ञ डॉ. पॉल ऑफिट ने कहा, जो एफडीए को सलाह भी देते हैं।

यह भी पढ़ें: जाने क्यों खास है फाइजर की वैक्सीन ?

दूसरा टीका

अमेरिका एक दूसरे वैक्सीन पर भी विचार कर रहा है, जिसे Moderna Inc. द्वारा बनाया गया है, जो आने वाले सप्ताह में आ सकता है। जनवरी की शुरुआत में, जॉनसन एंड जॉनसन को उम्मीद है कि उसका टीका भी अंतिम परीक्षण में काम करेगा।

यूरोप इस महीने के अंत तक Pfizer-BioNTech और Moderna वैक्सीन पर अपना निर्णय लेने के लिए तैयार है, यह एक अहम निर्णय है क्योंकि वैक्सीन की दौड़ में कई उम्मीदवारों को असफलता का सामना करना पड़ा है। जैसे शुक्रवार को सनोफी और जीएसके ने शुरुआती परीक्षणों के बाद घोषणा की, कि उनका टीका बुज़ुर्गों पर अच्छी तरह से काम नहीं करता है। और चीन एवं रूस ने कुछ देसी वैक्सीन का टीकाकरण शुरू करने से पहले अंतिम चरण के परिणामों की प्रतीक्षा नहीं की।

ट्रम्प प्रशासन के वैक्सीन विकास कार्यक्रम ऑपरेशन वार स्पीड के अधिकारियों के अनुसार, देश भर के पहले आपूर्ति में Pfizer-BioNTech वैक्सीन की लगभग 3 मिलियन खुराक की उम्मीद है। और इतनी ही उम्मीद दूसरी खुराक के लिए भी है।(VOA)