कैबिनेट बैठकों में पासवान का हस्तक्षेप बहुत व्यावहारिक होता था: मोदी

बिहार के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम विलास पासवान के साथ काम करने को एक अविश्वसनीय अनुभव करार दिया है। कहा कि पासवान के निधन से देश में पैदा हुए शून्य की भरपाई नहीं हो सकती।
 | 
कैबिनेट बैठकों में पासवान का हस्तक्षेप बहुत व्यावहारिक होता था: मोदी

 बिहार के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम विलास पासवान के साथ काम करने को एक अविश्वसनीय अनुभव करार दिया है। कहा कि पासवान के निधन से देश में पैदा हुए शून्य की भरपाई नहीं हो सकती। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट बैठकों में केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के व्यावहारिक हस्तक्षेप को भी याद किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, “मेरा दुख शब्दों से परे है। देश में पैदा हुए शून्य की भरपाई नहीं हो सकती। राम विलास पासवान का निधन मेरी निजी क्षति है। मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी और हर गरीब व्यक्ति के गरिमामयी जीवन सुनिश्चित करने वाले भावुक व्यक्ति को खो दिया।”

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, “राम विलास पासवान ने कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के माध्यम से राजनीति में कदम रखा। एक युवा नेता के रूप में, उन्होंने आपातकाल के दौरान अत्याचार और लोकतंत्र पर हमले का विरोध किया। वह एक उत्कृष्ट सांसद और मंत्री थे, जिन्होंने कई नीतिगत क्षेत्रों में स्थाई योगदान दिया।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “साथ में काम करना, पासवान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना एक अविश्वसनीय अनुभव रहा है। मंत्रिमंडल की बैठकों के दौरान उनके हस्तक्षेप व्यावहारिक थे। राजनीतिक ज्ञान, शासन के मुद्दों पर वह प्रतिभाशाली थे। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करता हूं।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम विलास पासवान के साथ अपनी तस्वीरें भी ट्वीट की।

यह भी पढ़ें: सियासत का अजब खेल, कहीं पर दोस्ती, तो कहीं आमने-सामने

(आईएएनएस)