सुशांत के भाई ने संजय राउत को भेजा नोटिस, 48 घंटे में माफी मांगने को कहा

शिवसेना के नेता संजय राउत द्वारा सुशांत सिंह राजपूत और उनके पिता के संबंधों को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर अब सुशांत के भाई और भाजपा विधायक नीरज कुमार ने कानूनी कार्रवाई करने का मन बना लिया है। विधायक नीरज कुमार ने राउत को एक अदालती नोटिस भेजकर 48 घंटे के अंदर अपने
 | 
सुशांत के भाई ने संजय राउत को भेजा नोटिस, 48 घंटे में माफी मांगने को कहा

शिवसेना के नेता संजय राउत द्वारा सुशांत सिंह राजपूत और उनके पिता के संबंधों को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर अब सुशांत के भाई और भाजपा विधायक नीरज कुमार ने कानूनी कार्रवाई करने का मन बना लिया है। विधायक नीरज कुमार ने राउत को एक अदालती नोटिस भेजकर 48 घंटे के अंदर अपने बयानों के लिए माफी मांगने की मांग की है, नहीं तो मामला दर्ज करने की चेतावनी दी गई है। विधायक नीरज कुमार बबलू के वकील वीरेंद्र कुमार झा ‘अनीश’ ने बताया कि हमने शिवसेना सांसद संजय राउत को ई मेल के जरिए नोटिस भेजा है। जिसमें उनके बयानों को लेकर आपत्ति दर्ज कराते हुए सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की बात कही गई है।

उन्होंने कहा कि राउत ने कई मीडिया में दिए गए बयान में कहा था कि सुशांत के पिता की दो शादियां हुई थी, इसलिए सुशांत अपने पिता से नाराज था। यह बिल्कुल अनर्गल, झूठ और बेबुनियाद है। इसी बात से लोग आहत हैं।

सुशांत के भाई ने संजय राउत को भेजा नोटिस, 48 घंटे में माफी मांगने को कहा
सुशांत सिंह राजपूत, दिवंगत अभिनेता (Image: Sushant Singh Rajput, Instagram)

इधर, विधायक नीरज कुमार ने कहा, “मैंने पहले भी राउत के बयानों को लेकर मानहानि का मामला दर्ज करने की बात कही थी। उनका बयान परिवारवालों को मर्माहत करने वाला है। “

उन्होंने कहा कि अगर राउत अपने बयानों के लिए 48 घंटे के अंदर सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगते हैं तो आगे मामला दर्ज कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें: सुशांत के प्रशंसकों ने संजय दत्त से माफी मांग ट्रोल किया ‘सड़क 2’ का ट्रेलर

वकील द्वारा भेजे गए नोटिस में भी कहा गया है कि राउत ने जिन बातों का जिक्र अपने बयानों में किया है वह बेबुनियाद है और धरातल पर ऐसा कुछ मामला नहीं है। वे किसी राजनीतिक दबाब में या किसी अन्य के बहकावे में आकर अनर्गल बयान दे रहे हैं। ऐसे में उनको मौका दिया गया है कि वे अविलंब 48 घंटे के अंदर अपने बयानों को लेकर खेद प्रकट करें या माफी मांगे क्योंकि भूल सबसे होती है।(आईएएनएस)