फेसबुक में अब यूजर्स को मिलेगा हार्डवेयर सुरक्षा कुंजी का विकल्प

डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा का बेहतर ख्याल रखते हुए फेसबुक की तरफ से अगले साल उपयोगकर्ताओंको नए विकल्प दिए जाएंगे ताकि उनके अकांउट की सुरक्षा और अधिक बेहतर ढंग से हो सके। कंपनी के सुरक्षा नीति के प्रमुख नथानिएल ग्लीइकर ने एक बयान में कहा कि नए साल के लिए सोशल मीडिया की योजना
 | 
फेसबुक में अब यूजर्स को मिलेगा हार्डवेयर सुरक्षा कुंजी का विकल्प

डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा का बेहतर ख्याल रखते हुए फेसबुक की तरफ से अगले साल उपयोगकर्ताओंको नए विकल्प दिए जाएंगे ताकि उनके अकांउट की सुरक्षा और अधिक बेहतर ढंग से हो सके। कंपनी के सुरक्षा नीति के प्रमुख नथानिएल ग्लीइकर ने एक बयान में कहा कि नए साल के लिए सोशल मीडिया की योजना यही है कि यूजर्स के लिए हार्डवेयर सुरक्षा कुंजी के विकल्प की शुरूआत की जाए।

आमतौर पर हाई-प्रोफाइल अकांउट्स के लिए सुरक्षा कुंजी के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है, लेकिन अगले साल से हर किसी अकांउट के लिए इसे उपलब्ध कराया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, यूजर्स विभिन्न रिटेलर्स से व्यक्तिगत तौर पर इन टोकन्स या कुंजियों को खरीद पाने में सक्षम रहेंगे और इसी के साथ इन्हें ऑनलाइन भी खरीदा जा सकेगा। इसके बाद फेसबुक के साथ इसे रजिस्टर या पंजीकृत किया जा सकेगा।

फेसबुक प्रोटेक्ट सिक्योरिटी प्रोग्राम

कंपनी के द्वारा अगले साल से अपने फेसबुक प्रोटेक्ट सिक्योरिटी प्रोग्राम का विस्तार कई अलग-अलग तरह के अकाउंट्स तक किया जाएगा, जिनमें पत्रकार, मानवधिकारों की रक्षा करने वाले कार्यकर्ता, सेलेब्रिटीज सहित वे सभी यूजर्स भी शामिल होंगे, जो भिन्न देशों के कुछ आने वाले प्रमुख चुनावों का हिस्सा होंगे। ग्लीइकर ने कहा कि हाई-प्रोफाइल वाले अकांउट के यूजर्स फेसबुक प्रोटेक्ट और सुरक्षा कुंजी दोनों का ही इस्तेमाल कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें : भारत ने 2021 के लिए 5जी पर बड़ा दांव लगाया

अपने बयान में उन्होंने कहा है, हैकर्स के द्वारा महत्वपूर्ण लोगों के सोशल मीडिया हैंडल से जुड़े जानकारियों को लक्षित किया जाता है। आप कहीं के सीईओ या राजनीतिक उम्मीदवार नहीं है, तो इसका मतलब ये नहीं कि आप अपने क्षेत्र के एक महत्वपूर्ण व्यक्ति नहीं है या आपको टार्गेट नहीं किया जा सकता है।

हैकर्स के खतरों से बचने के लिए फेसबुक प्रोटेक्ट में दो-कारक प्रमाणीकरण और रियल-टाइम मॉनिटरिंग शामिल है। वर्तमान समय में यह प्रोग्राम सिर्फ अमेरिकी राजनीतिज्ञों, पार्टी कार्यकर्ताओं,सरकारी एजेंसियां और मतदान कर्मियों के लिए ही उपलब्ध है।(आईएएनएस)