Tuesday, December 1, 2020
Home देश अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार के 142 उम्मीदवारों में 24 भारतीय बच्चे शामिल...

अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार के 142 उम्मीदवारों में 24 भारतीय बच्चे शामिल !

यह पुरस्कार हर साल किसी एक बच्चे को मिलता है, जिनके द्वारा बच्चों के अधिकारों का प्रसार करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जाती है।

प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार 2020 के लिए भारत से 24 बच्चे नामांकित किए गए हैं। ये उन 42 विभिन्न देशों के 142 उम्मीदवारों में से हैं, जिन्हें इस पुरस्कार के लिए योग्य माना गया है। यह पुरस्कार हर साल किसी एक बच्चे को मिलता है, जिनके द्वारा बच्चों के अधिकारों का प्रसार करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जाती है और जो कमजोर वर्ग से आने वाले बच्चों की स्थिति में बेहतर सुधार लाने की दिशा में प्रयासरत रहते हैं। पिछले साल यह पुरस्कार स्वीडन से ग्रेटा थुनबर्ग और कैमरून से डिविना मलौम को दिया गया था।

बाल अधिकार संगठन ‘सेव द चिल्ड्रन इन इंडिया’ से जुड़ी पांच लड़कियां उन लोगों में शामिल हैं जिन्हें शॉर्टलिस्ट किया गया है। इनमें से एक हैं पूनम, जो नासिक की रहने वाली हैं, उन्हें किशोरावस्था, युवावस्था, मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन से संबंधित मुद्दों और वॉश के लिए मुखर रहने के लिए नामांकित किया है, जिनमें पानी, साफ-सफाई और स्वच्छता से जुड़े अभ्यास शामिल हैं।

15 साल की नजरीन मुंबई के गोवांडी से ताल्लुक रखती हैं। उन्हें यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकार (एसआरएचआर) की दिशा में उनके कार्यों के लिए नामांकन मिला है। उन्होंने पिछले छह सालों में कुपोषण, स्वच्छता और एसआरएचआर पर 100 प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए हैं। वह अपने क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं की भी काउंसलिंग करती हैं और यह सुनिश्चित करती हैं कि गर्भावस्था की पहली तिमाही में अस्पताल में उनका पंजीकरण हो।

यह भी पढ़ें – ‘स्टडी इन इंडिया, स्टे इन इंडिया’

महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के लिए अपनी प्रचेष्ठा के चलते राजस्थान के ओसियां में स्थित गांव आशापुरा में रहने वालीं जशोदा (15) को भी नामित किया गया है। राजस्थान के टोंक के दारदा तुर्क गांव की वसुंधरा को बाल विवाह को खत्म करने, लड़कियों के बीच यौन व प्रजनन स्वास्थ्य और उनके अधिकारों के लिए जागरूकता फैलाने के उनके काम के लिए नामांकित किया गया है।

अब बारी आती है बिहार के नौशीन की, जो जिन्होंने बाल विवाह और समाज में महिलाओं के लिए प्रचलित अन्य रूढ़ियों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की है। 15 साल की नौशीन समाज में महिलाओं व लड़कियों को ऐसी ही कुरीतियों के बीच में से होकर गुजरते देखा है। वह जीवन कौशल सत्र आयोजित करती हैं और अपने गांव की अन्य किशोरियों को लैंगिक भावना पर आधारित सामाजिक बुराइयों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
174FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

हाल की टिप्पणी