Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×

By : रजनीश सिंह

आतंकवाद और उग्रवाद से संबंधित मजबूत और त्वरित खुफिया जानकारी के लिए, केंद्र सरकार देशभर में 451 नए स्थानों पर अपने समर्पित और सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क ‘टीएमएस और एनएमबी’ का विस्तार कर रही है।


यह भारत सरकार के तीसरे चरण के इंटेलिजेंस गैदरिंग ऑपरेशन का एक हिस्सा है जो 2020 में शुरू हुआ था और इस वर्ष के अंत या 2022 के मध्य तक अपने लक्ष्य को हासिल करने की उम्मीद है जब देश अपनी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मनाएगा।

राज्य पुलिस प्रमुखों के परामर्श से चयनित 475 जिलों में नेटवर्क बढ़ाया जा रहा है। 475 चिन्हित स्थानों में से, 451 स्थानों को कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए मुफीद पाया गया है, जिनमें से 174 जिले पहले से ही जुड़े हुए हैं।

आईएएनएस द्वारा एक्सेस की गई गृह मामलों पर संसदीय स्थायी समिति की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्तमान में, देश भर में कुल 374 स्थान खुफिया नेटवर्क पर हैं। पूरा हो जाने पर नेटवर्क देश भर में 825 स्थानों को कवर करेगा।

रिपोर्ट 2 फरवरी को राज्यसभा में पेश की गई और उसी दिन लोकसभा में सभापटल पर रखी गई। इसमें उल्लेख किया गया है कि नेटवर्क दो प्लेटफार्मों की मेजबानी करता है – एक खुफिया साझाकरण उपकरण जिसे ‘थ्रेट मैनेजमेंट सिस्टम’ (टीएमएस) और एक डेटाबेस टूल जिसे ‘नेशनल मेमोरी बैंक’ (एनएमबी) कहा जाता है।

टीएमसी को इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) के तकनीकी कर्मचारियों द्वारा विकसित किया गया, जबकि एनबीएम सॉफ्टवेयर को सी-डैक, पुणे द्वारा आईबी द्वारा प्रदान किए गए विनिर्देशों के आधार पर विकसित किया गया था।

 गृह मंत्रालय (Wikimedia commons)

एनएमबी सॉफ्टवेयर सभी मल्टी एजेंसी सेंटर (मैक) और राज्य पुलिस सर्वर पर डिप्लॉयड है। दिसंबर 2001 में कारगिल संघर्ष के बाद मैक को आतंकवाद से संबंधित सभी खुफिया सूचनाओं को साझा करने, संकलित करने और उनका विश्लेषण करने के लिए एक मंच के रूप में बनाया गया था, और 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले के बाद दिसंबर 2008 में इसे मजबूत किया गया था।

रिपोर्ट के अनुसार, कुछ अन्य राज्यों, आईबी और कुछ अन्य एजेंसियों द्वारा डेटाबेस पर बड़ी मात्रा में डेटा पहले ही अपलोड किया जा चुका है।

रिपोर्ट गृह मामलों की स्थायी समिति द्वारा गृह मंत्रालय (एमएचए) द्वारा साझा की गई जानकारी के आधार पर तैयार की गई है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ सांसद आनंद शर्मा सहित समिति में 31 सांसद शामिल हैं – 10 राज्यसभा से और 21 लोकसभा से।

इसके अलावा, गृह मंत्रालय ने समिति को सूचित किया कि उसने आतंकवाद से संबंधित जानकारी या डेटा को साझा करने या प्रसारित करने के लिए संचार और कनेक्टिविटी की एक व्यापक प्रणाली स्थापित की है।

गृह मंत्रालय ने यह यह सिफारिश करने के बाद समिति के साथ इनपुट साझा की थी कि रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ), सेंट्रल आम्र्ड पुलिस फोर्सेस (सीएपीएफ), सेना, राज्य एजेंसियों और अन्य एजेंसियों के बीच समन्वय की कमी और अविश्वास के कारण समय पर आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है।

यह भी पढ़े :- आकाशवाणी संगीत सम्मेलन का नाम पंडित भीमसेन जोशी के नाम पर रखा गया

स्थायी समिति ने उन खुफिया एजेंसियों के बीच समन्वय के लिए गृह मंत्रालय को केंद्र बिंदु के रूप में कार्य करने का सुझाव दिया था। (आईएएनएस)

Popular

विपक्ष के 12 सांसदों को राज्यसभा से निलंबित।(Wikimedia Commons)

संसद के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन विपक्ष के 12 सांसदों को राज्यसभा(Rajya Sabha) से निलंबित(Suspended) किया गया है। अब ये 12 सांसद संपूर्ण सत्र के दौरान सदन नहीं आ पाएंगे। निलंबित सांसद कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, भाकपा, माकपा और शिवसेना से हैं। अब आप लोग सोच रहे होंगे संसद का आज पहला दिन और इन सांसदो को पहले दिन ही क्यों निष्कासित कर दिया गया?

इस मामले की शुरुआत शीतकालीन सत्र से नहीं बल्कि मानसून सत्र से होती है। दरअसल, राज्यसभा(Rajya Sabha) ने 11 अगस्त को संसद के मानसून सत्र के दौरान सदन में हंगामा करने वाले 12 सांसदों को सोमवार को संसद के पूरे शीतकालीन सत्र के लिए निलंबित कर दिया। ये वही सांसद हैं, जिन्होंने पिछले सत्र में किसान आंदोलन(Farmer Protest) अन्य कई मुद्दों को लेकर संसद के उच्च सदन(Rajya Sabha) में खूब हंगामा किया था। इन सांसदों पर कार्रवाई की मांग की गई थी जिस पर राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू को फैसला लेना था।

Keep Reading Show less

मस्क ने कर्मचारियों से टेस्ला वाहनों की डिलीवरी की लागत में कटौती करने को कहा। [Wikimedia Commons]

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) ने कर्मचारियों से आग्रह किया है कि वे चल रहे त्योहारी तिमाही में वाहनों की डिलीवरी में जल्दबाजी न करें, लेकिन लागत को कम करने पर ध्यान दें, क्योंकि वह नहीं चाहते हैं कि कंपनी 'शीघ्र शुल्क, ओवरटाइम और अस्थायी ठेकेदारों पर भारी खर्च करे ताकि कार चौथी तिमाही में पहुंचें।' टेस्ला आम तौर पर प्रत्येक तिमाही के अंत में ग्राहकों को कारों की डिलीवरी में तेजी लाई है।

सीएनबीसी द्वारा देखे गए कर्मचारियों के लिए एक ज्ञापन में, टेस्ला के सीईओ (Elon Musk) ने कहा कि ऐतिहासिक रूप से जो हुआ है वह यह है कि 'हम डिलीवरी को अधिकतम करने के लिए तिमाही के अंत में पागलों की तरह दौड़ते हैं, लेकिन फिर डिलीवरी अगली तिमाही के पहले कुछ हफ्तों में बड़े पैमाने पर गिर जाती है।'

Keep Reading Show less

बॉलीवुड स्टार आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) [Wikimedia Commons]

बॉलीवुड स्टार आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने लोकप्रिय स्पेनिश सीरीज 'मनी हाइस्ट' के लिए अपने प्यार को कबूल कर लिया है और सर्जियो माक्र्विना द्वारा निभाए गए अपने पसंदीदा चरित्र 'प्रोफेसर' को ट्रिब्यूट दिया है। एक मजेदार टेक में, स्टार ने प्रसिद्ध 'प्रोफेसर' चरित्र को ट्रिब्यूट दी, हैशटैग इंडियाबेलाचाओ फैन प्रतियोगिता की शुरूआत करते हुए प्रशंसकों को श्रृंखला के लिए अपने प्यार को दिखाने और साझा करने की अनुमति दी। आयुष्मान पियानो पर क्लासिक 'बेला चाओ' का अपना गायन भी गाते हुए दिखाई देते हैं।

Keep reading... Show less