Sunday, May 16, 2021
Home थोड़ा हट के दफ्तर जाए बिना घर से काम करके अधिक खुश हैं 62 प्रतिशत...

दफ्तर जाए बिना घर से काम करके अधिक खुश हैं 62 प्रतिशत कर्मचारी : सर्वे

कोरोनावायरस महामारी के बीच घर से काम (Work from home ) का चलन बढ़ा है। इस बीच एक नए सर्वे में सामने आया है कि कर्मचारी भी दूरस्थ रूप से (कार्यालय में जाए बिना घर से काम) काम करना पसंद कर रहे हैं।


कोरोनावायरस महामारी के बीच घर से काम (Work from home ) का चलन बढ़ा है। इस बीच एक नए सर्वे में सामने आया है कि कर्मचारी भी दूरस्थ रूप से (कार्यालय में जाए बिना घर से काम) काम करना पसंद कर रहे हैं। सर्वे में शामिल 62 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा है कि वह दूरस्थ रूप से काम करके खुश हैं।

लगभग 56 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा कि वे दूरस्थ रूप से और अधिक अच्छे ढंग से काम कर पाते हैं और 61 प्रतिशत ने कहा कि वे दूरस्थ तरीके से काम करते हुए अपनी आठ घंटे की शिफ्ट में अधिक काम कर सकते हैं। लोगमीइन द्वारा संचालित फॉरेस्टर स्टडी में यह दावा किया गया है, जो कि क्लाउड-आधारित सॉल्यूशंस गोटूमीटिंग का एक प्रमुख प्रदाता है।

हालांकि सर्वेक्षण के निर्णयकतार्ओं में से केवल पांच प्रतिशत का मानना है कि दूरस्थ तरीके से काम करने वाले कर्मचारी अधिक प्रोडक्टिव काम करते हैं और 70 प्रतिशत ने कहा कि कार्यालय में कर्मचारी अधिक भरोसेमंद हैं।
 

WORK FROM HOME
सर्वे में शामिल 62 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा है कि वह दूरस्थ रूप से काम करके खुश हैं। ( आईएएनएस  ) 

यह भी पढ़ें : स्मार्टफोन पर Gaming और HD वीडियो कॉलिंग के मामले में Airtel सबसे आगे : रिपोर्ट

अध्ययन में पता चला है कि 83 प्रतिशत कर्मचारियों मानते हैं कि यदि उन्हें अधिक लचीले (फ्लेक्सिबल) ढंग से काम करने की अनुमति दी जाती है तो उनकी कंपनी में रहने की अधिक संभावना है।

लगभग 60 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि वे लचीले ढंग से काम के लिए एक व्यवसाय में कम वेतन स्वीकार करने के लिए भी तैयार हैं।

अध्ययन दो ऑनलाइन सर्वेक्षणों का उपयोग करते हुए आयोजित किया गया है, जिसमें 582 रिमोट वर्क डिसिजन मेकर्स और वैश्विक संगठनों से 427 कर्मचारियों को शामिल किया गया था।
( AK आईएएनएस )

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,635FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी