Pradhanmantri Jan Aushadhi Pariyojana के तहत भारत में खुले  8,675 नए स्टोर्स

0
25
भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत 31 जनवरी, 2022 तक भारत के दवा स्टोरों की संख्या बढ़कर 8,675 हो गई है। (IANS)

भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत 31 जनवरी, 2022 तक भारत के दवा स्टोरों की संख्या बढ़कर 8,675 हो गई है। पीएमबीजेपी(Pradhanmantri Jan Aushadhi Pariyojana) के अंतर्गत देश के सभी 739 जिलों को कवर किया गया है। यह योजना देश के प्रत्येक कोने में लोगों के लिए किफायती औषधि तक आसान पहुंच सुनिश्चित करती है। भारत सरकार ने मार्च 2025 के अंत तक प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्रों (Prime Minister Jan Aushadhi Center) की संख्या बढ़ाकर 10,500 करने का लक्ष्य तय किया है। पीएमबीजेपी की उत्पाद बास्केट में 1451 दवाइयां तथा 240 सर्जिकल उपकरण हैं। नई दवाइयां तथा न्यूट्रास्युटिकल प्रोटीन पाउडर, जौ-आधारित खाद्य पूरक, प्रोटीन बार, इम्युनिटी बार तथा सैनिटाइजर, मास्क, ग्लूकोमीटर, ऑक्सीमीटर जैसे न्यूट्रास्युटिकल उत्पाद लॉन्च किए गए हैं।

वर्तमान में पीएमबीजेपी के आईटी सक्षम गोदाम गुरुग्राम, चेन्नई तथा ऐंप, गुवाहाटी में कार्यरत हैं तथा चौथा गोदाम सूरत में संचालन के लिए तैयार है। देशभर में दूर-दराज तथा ग्रामीण इलाकों में दवाइयों की सप्लाई में सहयोग के लिए 39 वितरक नियुक्त किए गए हैं।

सभी को उचित मूल्य पर गुणवत्ता संपन्न जेनेरिक औषधियां उपलब्ध कराने के उद्देश्य से नवंबर 2008 में रसायन तथा उर्वरक मंत्रालय के फार्मास्युटिकल्स विभाग द्वारा प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) लॉन्च की गई थी।

jan aushadhi kendra, narendra modi

जान औषधि योजना ने हज़ारों भारतियों को फायदा पहुंचाया है। (Wikimedia Commons)

फार्मास्युटिकल विभाग के अंतर्गत फार्मास्युटिकल्स एंड मेडिकल डिवाइस ब्यूरो ऑफ इंडिया (पीएमबीआई) अपना चौथा जन औषधि दिवस मनाने जा रहा है। चौथे जन औषधि दिवस के अवसर पर सभी राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों के विभिन्न स्थानों पर सप्ताह भर का आयोजन किया जाएगा। इससे जेनेरिक औषधियों के उपयोग तथा जन औषधि परियोजना के लाभ के बारे में जागरूकता पैदा होगी।


कैसे बनता है देश का बजट? How Budget is prepared | Making of Budget Nirmala sitharaman | NewsGram

youtu.be

सभी कार्यक्रम आजादी का अमृत महोत्सव की भावना के अंतर्गत आयोजित किए जाएंगे। 75 स्थानों पर अनेक कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है। ये कार्यक्रम विभिन्न शहरों में 1 मार्च, 2022 से 7 मार्च, 2022 तक आयोजित किए जाएंगे, जिनका फोकस जन औषधि योजना के बारे में जागरूकता, संगोष्ठियों, बच्चों, महिलाओं तथा स्वयंसेवी संगठनों की भागीदारी, हेरिटेज वॉक तथा हेल्थ वॉक तथा अन्य कार्यक्रमों पर होगा। देश के विभिन्न भागों में दिन के अनुसार गतिविधियां तय की गई हैं।

यह भी पढ़ें- रेत कलाकार Sudarshan Pattnaik ने 23,436 रुद्राक्ष मोतियों के साथ बनाई भगवान की शिव की रेत की मूर्ति

मुख्य कार्यक्रम जन औषधि दिवस सोमवार 7 मार्च, 2022 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण तथा रसायन और उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया और रसायन तथा उर्वरक राज्यमंत्री श्री भगवंत खूबा इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

Input-IANS ; Edited By-Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here