Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
दुनिया

ट्रंप ने हार मानी, लेकिन चुनाव में धांधली का आरोप लगाया

संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार मान ली लेकिन साथ में ये भी कहा कि डेमोक्रेट नेता जो बाइडेन की जीत एक धोखा है।

मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प। (VOA)

By: अरुल लुईस

संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार मान ली लेकिन साथ में ये भी कहा कि डेमोक्रेट नेता जो बाइडेन की जीत एक धोखा है।


एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा : “वह जीता, क्योंकि चुनाव में धांधली हुई है।”

ट्रंप ने 3 नवंबर को हुए चुनाव के नतीजे टेलीविजन चैनलों पर प्रसारित किए गए थे, जिसके आधार पर बाइडेन विजेता थे, हालांकि गिनती अभी भी जारी थी और कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई थी।

शुक्रवार को, मीडिया ने बाइडेन को इलेक्टोलेरल कॉलेज के 306 वोट दिए और ट्रंप को 232 वोट। चुनाव जीतने के लिए 270 इलेक्टोरल वोटों की जरूरत होती है।

चुनाव परिणामों की मीडिया पर घोषणा को रिपब्लिकन समेत कई अमेरिकी नेताओं ने स्वीकार किया, यहां तक कि अंतर्राष्ट्रीय नेताओं ने भी इन नतीजों को माना जिनमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं, जिन्होंने बाइडेन और कमला हैरिस को जीत पर बधाई दी।

जो बाइडन एवं कमला हैरिस। (फाइल फोटो, VOA)

शुक्रवार को कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर बोलते हुए बाइडेन ने घोषणा की, “मैं राष्ट्रपति-निर्वाचित हूं।”

लेकिन अमेरिका में इसके बावजूद सत्ता हस्तांतरण का भविष्य अभी भी अनिश्चित है क्योंकि ट्रंप प्रशासन ने अब तक बाइडेन की की टीम को सुविधाएं देने या जानकारी साझा करने से इनकार किया है।

ट्रंप ने अभी तक यह संकेत नहीं दिया है कि क्या वो बाइडेन को सत्ता हस्तांतरण में सहयोग करेंगे या फिर देशभर में दायर मुकदमों को वापस लेंगे।

उनके हजारों समर्थकों ने शनिवार को वाशिंगटन में एक रैली में मार्च किया, उन्होंने कहा, “स्टॉप द स्टील (चोरी करना बंद करो)।” ट्रंप उस रैली के पास से गुजर गए लेकिन उन्होंने किसी को रोका या टोका नहीं।

बाद में शाम के समय, ट्रंप-विरोधी प्रदर्शनकारी ट्रंप समर्थकों के साथ भिड़ गए, जिसके बाद लगभग 20 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन कोई व्यापक हिंसा या लूटपाट नहीं हुई।

यह भी पढ़ें: अमेरिका को फिर से दुनिया भर में सम्मान दिलाने का काम करूँगा – बाइडेन

मतदान में धांधली का आरोप लगाते हुए ट्रंप ने अपने ट्वीट में आगे कहा, “किसी पर्यवेक्षक को अनुमति नहीं दी गई, वोटों की गिनती एक कट्टरपंथी वामपंथी निजी कंपनी द्वारा कराई गई, ऐसी कंपनी जिसकी प्रतिष्ठा खराब है।”

एक अन्य ट्वीट में ट्रंप ने कहा, “इलेक्शन नाइट पर होने वाले सभी मैकेनिकल ‘ग्लिचेज’ वास्तव में वोट चुराने की कोशिश थी। वे बहुत सफल हुए, हालांकि पकड़े नहीं गए। मेल-इन वोट एक मजाक है!”

अपने कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की प्रगति पर शुक्रवार को व्हाइट हाउस में ब्रीफिंग के दौरान ट्रंप ने संकेत दिया कि वो चुनाव हार गए हैं।

लॉकडाउन की संभावना पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, “भविष्य में जो कुछ भी होता है, कौन जानता है, कौन सा प्रशासन होगा, मुझे लगता है कि समय बताएगा।”

बाइडेन टीम के अधिकारी जेन साकी ने शुक्रवार को कहा था कि “हमें जानकारी नहीं है कि कोविड-19 पर चल रहा काम कहां तक पहुंचा है। शासन चलाने के लिए हमें इसकी जानकारी चाहिए ताकि हम अपने आप को तैयार कर सकें।”

अमेरिका में कानूनी रूप से निर्वाचित राष्ट्रपति को सत्ता हस्तांतरित करने के लिए आधिकारिक सुविधाएं दी जाती हैं।

ट्रंप प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि वो चुनाव परिणाम के आधिकारिक घोषणा की प्रतीक्षा कर रहे हैं।(आईएएनएस)

Popular

देश के जवानों की शहादत रोकने के लिए एमआईआईटी मेरठ की तरफ से एक बड़ा प्रयास किया गया है। (Wikimedia commons)

देश की सीमाओं की सुरक्षा करते वक्त हमारे देश के वीर सैनिक अक्सर शहीद हो जाते हैं इसलिए कभी ना कभी भारतीयों के मन में यह आता है कि हम अपने वीर जवानों की शहादत को कैसे रोक सकते? लेकिन इस क्षेत्र में अब हमें उम्मीद की किरण मिल गई है। दरअसल, हमारे जवानों की सुरक्षा के लिए मेरठ इंस्टीट्यूट आफ इंजनियरिंग टेक्नोलॉजी (एमआईईटी) इंजीनियरिंग कॉलेज, मेरठ के सहयोग से एक मानव रहित बॉर्डर सिक्योरिटी सिस्टम तैयार किया गया है। इस डिवाइस को मानव रहित सोलर मशीन गन नाम दिया गया है। यह सिस्टम बॉर्डर पर तैनात जवानों की सुरक्षा और सुरक्षित रहते हुए आतंकियों का सामना करने के लिए बनाया गया है। इसे तैयार करने वाले युवा वैज्ञानिक श्याम चौरसिया ने बताया कि यह अभी प्रोटोटाईप बनाया गया है। इसकी मारक क्षमता तकरीबन 500 मीटर तक होगी, जिसे और बढ़ाया भी जा सकता है।

यह मशीन गन इलेट्रॉनिक है। इसे संचालित करने के लिए किसी इंसान की जरुरत नहीं होगी। इसका इस्तेमाल अति दुर्गम बॉर्डर एरिया में आतंकियों का सामना करने के लिए किया जा सकेगा। इसमें लगे सेंसर कैमरे दुश्मनों पर दूर से नजर रख सकतें हैं। आस-पास किसी तरह की आहट होने पर यह मानव रहित गन जवानों को चौकन्ना करने के साथ खुद निर्णय लेकर दुश्मनों पर गोलियों की बौछार भी करने में सक्षम होगा। इस मानव रहित गन को ऑटोमेटिक और मैनुअल भी कर सकते हैं।

Keep Reading Show less

मंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में महिला सशक्तिकरण ,कोविद टिकाकरण जैसे मुद्दों पर बात की। (Twitter)

'मन की बात' आकाशवाणी पर प्रसारित किया जाने वाला एक कार्यक्रम है, जिसके जरिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के नागरिकों को संबोधित करते हैं। रविवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में 100 करोड़ से अधिक लोगों को कवर करने वाले COVID टीकाकरण अभियान के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए लोगों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने संयुक्त राष्ट्र दिवस के मौके पर रविवार को कहा, 'भारत हमारे ग्रह को एक बेहतर जगह बनाने में अहम भूमिका निभाएगा।'

उन्होंने कहा, "भारत ने हमेशा विश्व शांति के लिए काम किया है। इसे संयुक्त राष्ट्र शांति सेना में हमारे योगदान के रूप में देखा जाता है। भारत योग और स्वास्थ्य के पारंपरिक तरीकों को और लोकप्रिय बनाने के लिए भी काम कर रहा है।

Keep Reading Show less

काउंटरप्वाइंट की रिसर्च में कहा गया है कि भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाला बाजार बन गया है।(Wikimedia commons)

Keep reading... Show less