Monday, January 25, 2021
Home दुनिया आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में बाइडन का ट्रंप पर हमला

आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में बाइडन का ट्रंप पर हमला

तीन नवंबर को होने वाले चुनाव से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन के बीच आखिरी बार गुरुवार रात नैशविले (टेनेसी) में जोरदार बहस हुई।

By: निखिला नटराजन

तीन नवंबर को होने वाले चुनाव से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन के बीच आखिरी बार गुरुवार रात नैशविले (टेनेसी) में जोरदार बहस हुई। 90 मिनट की बहस के दौरान राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक उम्मीदवार, जो बाइडन ने ट्रंप पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा ये व्यक्ति व्हाइट हाउस में रहने के लिए अयोग्य है। बाइडन ने ट्रंप को अमेरिका में कोरोनोवायरस से हुई मौतों के लिए जिम्मेदार ठहराया और आगे डार्क विंटर की चेतावनी दी।

बाइडन ने देश में कोरोनावायरस मामले को लेकर ट्रंप को निशाने पर लिया। अमेरिका में कोरोना के 80 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि अब तक 2,22,000 से ज्यादा लोग दम तोड़ चुके हैं।

बाइडन ने कहा, “जो कोई भी इसके लिए जिम्मेदार है, उसे कई मौतों के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में नहीं रहना चाहिए। हम ऐसी स्थिति में हैं जहां एक दिन में 1000 मौतें होती हैं। और प्रति दिन 70,000 से अधिक नए मामले सामने आते हैं।”

बाइडन ने पहले 15 मिनट में ट्रंप पर खूब हमला बोला और कहा, यह उनकी अयोग्यता है जिसके चलते इतनी जानें गई हैं।

presidential debate
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन। (VOA)

ट्रंप कोविड-19 को खत्म करना चाहते हैं लेकिन कोविड-19 अमेरिका का पीछा नहीं छोड़ रहा।

इस वायरस के मरीज रह चुके ट्रंप ने दावा किया कि दुनिया के नेताओं ने उन्हें वायरस के खिलाफ लड़ाई में बधाई दी है, कि आपने अच्छा काम किया। ट्रंप ने कहा कि स्कूलों को फिर से खोलना होगा, अर्थव्यवस्था को फिर से खोलना होगा और बाइडन तो बस अपने तहखाने में जाकर अपने आप को कैद कर लें।

ट्रंप और बाइडन के बीच जोरदार बहस के दौरान म्यूट बटन ने भी आधिकारिक रूप से एंट्री कर ली। हालांकि, ट्रंप ने इसे अनुचित करार दिया।

दरअसल पहली बहस के दौरान दोनों ने एक-दूसरे पर खूब टोकाटाकी की थी, जब बाइडन बोल रहे ते तो ट्रंप बार-बार टोक रहे थे इस स्थिति से बचने के लिए म्यूट बटन का इस्तेमाल किया गया। ट्रंप और बाइडन के माइक्रोफोन दो मिनट के ओपनिंग रिमार्क के दौरान बंद कर दिए गए, यानी जब बाइडन से सवाल पूछा गया तो उन्हीं का माइक चालू रहा। सभी छह सेगमेंट के दौरान ऐसा ही चला।

ट्रंप के लिए म्यूट बटन हर उस चीज का विरोधी है, जिसके लिए वह अब तक खड़े होते आए हैं, यह कुछ ऐसा है जिसे वह पसंद नहीं करते लेकिन कहीं न कहीं इसके प्रभाव के आगे झुकते हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी चुनावी नतीजे भारत से संबंध पर असर नहीं डालेंगे

अंतिम बहस में मास्क की मौजूदगी भी देखने को मिली। इस महीने व्हाइट हाउस के कोविड-19 क्लस्टर बनने के बाद ऐसा देखने को मिला। कोरोना से संक्रमित हो चुकीं प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप भी डिबेट के दौरान मास्क पहने नजर आईं।

जलवायु परिवर्तन पर एक सवाल का जवाब देने के दौरान ट्रंप ने खराब वायु गुणवत्ता के लिए रूस, भारत, चीन का नाम लिया।

बाइडन ने उत्तर कोरिया, चीन और रूस के नेताओं को ‘ठग’ कहा और ट्रंप पर आरोप लगाया कि वो उन्हें गले लगाते हैं।

बाइडन ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ ट्रंप के रिश्ते असमान्य रूप से घनिष्ट रहे हैं और कई लोगों के लिए यह परेशानी का सबब रहा है।

अफगानिस्तान मसले पर बाइडन का मानना है कि अमेरिकी सेना की अफगानिस्तान में अहम भूमिका होनी चाहिए और अगर वो राष्ट्रपति बने तो संभावना है कि ट्रंप की तुलना में वो लंबे समय तक वहां अमरीकी सेना को रखें। बाइडन ने कहा, कि अगर मैं राष्ट्रपति बना चुनाव में दखलअंदाजी की साजिश करने वाले बाहरी ताकतों को सबक सिखाया जाएगा। मुझे पता है कि रूस, ईरान और चीन दखल देने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि रूस नहीं चाहता कि वह चुनाव जीते।

इस पर ट्रंप ने कहा कि रूस को लेकर मैं जितना सख्त मैं रहा हूं उतना शायद ही कोई अन्य राष्ट्रपति रहे हों।

इस बहस को मॉडरेट एक अश्वेत महिला क्रिस्टन वेल्कर थी जो 1992 के बाद से प्रेसिडेंशियल डिबेट को मॉडरेट करने वाली दूसरी अश्वेत महिला हैं।

वहीं, जहां फाइवथर्टी पोल एवरेज ने बाइडन को नेशनल पोल में ट्रंप से 9.9 पॉइंट से आगे बताया है, दूसरी ओर रियलक्लीयर पॉलिटिक्स पोल एवरेज ने 7.9 पॉइंट से आगे बताया है।(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

6,018FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

हाल की टिप्पणी