Saturday, June 12, 2021
Home दुनिया चुनावों के बाद अराजकता की आशंका से डरे हुए हैं अमेरिकी मतदाता

चुनावों के बाद अराजकता की आशंका से डरे हुए हैं अमेरिकी मतदाता

ट्रंप समर्थकों से भरी कारों को बाइडेन-हैरिस की कैंपेन बस को सड़क से गिराने की कोशिश करते देखा गया था। देश भर में चुनाव को लेकर 300 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं।

By: निखिला नटराजन

अमेरिकियों की उत्सुकता चरम पर है, वे बस 3 नवंबर के खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रपति पद के चुनावों के लिए घंटे गिनना शुरू कर दिया है।

यूनियन काउंटी के न्यू जर्सी की एक बुजुर्ग महिला स्लोन ने आईएएनएस को बताया, “हमने पहले सोचा था कि हम डाकघर में अपने मतपत्र डाल देंगे, लेकिन आखिरकार हम कड़ाके की ठंड में आए, कतार में इंतजार किया और मतदान किया। हालांकि मैं 3 नवंबर को टीवी नहीं देख रही हूं। उसमें माहौल बहुत ही जहरीला है।”

वे भी उन लोगों में शामिल हैं जो ट्रंप से सहमत नहीं हैं कि लोग “कोविड से थक गए हैं, बल्कि लोग डरे हुए हैं”।

रिकॉर्ड संख्या में मतदान करने आए मतदाताओं का कहना है कि वे उन चीजों के बारे में चिंतित हैं जिनकी उन्होंने पहले कभी कल्पना भी नहीं की थी। वे बहुत तेजी से इस बारे में सोच रहे हैं कि क्या होगा यदि ट्रंप इसे अदालतों में ले जाएं? या शुरूआती वोटों की गिनती में आगे रहने पर ट्रंप ने जीत की घोषणा की तो क्या होगा? क्या होगा अगर बंदूक रखे हुए लोग सड़कों पर उतर आएं?

यह भी पढ़ें: जानिए, ट्रंप-बाइडन में कौन आगे, कौन पीछे

सोमवार की सुबह ट्रंप समर्थकों से भरी कारों को बाइडेन-हैरिस की कैंपेन बस को सड़क से गिराने की कोशिश करते देखा गया था। इस मामले में एफबीआई जांच कर रही है, क्योंकि चुनाव के बाद की हिंसा होने का खतरा है।

पहले से ही देश भर में चुनाव को लेकर 300 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं, जिनमें ज्यादातर मुकदमे महामारी के कारण प्रक्रियाओं में किए गए बदलावों को लेकर है।

पेंसिल्वेनिया चुनाव के बाद मुकदमेबाजी का केंद्र बन रहा है। यहां राज्य की अदालत ने आदेश दिया है कि मेल से मतपत्रों को प्राप्त करने और गिनने की समय सीमा शुक्रवार, 6 नवंबर है। इस पर अभी सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय नहीं दिया है। उधर खबरों के मुताबिक ट्रंप ने कहा कि यदि गिनती में वह आगे रहते हैं तो वह समय से पहले चुनाव की रात को ही जीत की घोषणा कर सकते हैं, भले ही महत्वपूर्ण राज्यों में गिनती पूरी न हुई हो। वहीं बाइडेन अभियान ने भी खुद की जीत की घोषणा करने से इनकार नहीं किया है।

दोनों पक्षों के वकील तैयार हैं और 9.7 करोड़ मतदाता मतदान कर चुके हैं। वहीं इस देश में कोविड से 2,31,000 अमेरिकियों की मृत्यु हो चुकी है।(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी