Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
राजनीति

अमित शाह और अमरिंदर सिंह के बीच लगभग एक घंटे तक हुई मुलाकात, इस मुद्दे पर हुई बात..

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और देश के गृह मंत्री के बीच बुधवार को लगभग एक घंटे तक मुलाकात हुई।

गृह मंत्री अमित शाह (Wikimedia commons)

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और देश के गृह मंत्री के बीच बुधवार को लगभग एक घंटे तक मुलाकात हुई। गृह मंत्री और भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात करने के लिए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह बुधवार शाम को उनके नई दिल्ली स्थित आवास पहुंचे। दोनों नेताओं के बीच लगभग एक घंटे तक बातचीत हुई और इसी के साथ पंजाब की राजनीति में अमरिंदर सिंह के नए मूव को लेकर कई तरह की चर्चाएं भी होने लगीं।

हालांकि अमित शाह के साथ मुलाकात के बाद अमरिंदर सिंह ने स्वयं ट्वीट कर कहा , आज दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन के मुद्दें पर बात की। उनसे इन कानूनों को निरस्त करने और एमएसपी की गारंटी देकर इस संकट को जल्दी खत्म करने का अनुरोध किया।

अमरिंदर सिंह के इस बयान ने तमाम राजनीतिक अटकलों को एक बार फिर से धराशायी कर दिया है। यह बयान जारी कर अमरिंदर सिंह ने यह स्पष्ट कर दिया है कि देश के गृह मंत्री अमित शाह के साथ लगभग एक घंटे तक चली बातचीत में उन्होने किसान आंदोलन , किसानों से जुड़े कानूनों और न्यूनतम समर्थन मूल्य को लेकर ही चर्चा की और गृह मंत्री से किसानों के हित में इन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग भी की।
हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान अमरिंदर सिंह ने बार्डर के हालात और और राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दों पर गृह मंत्री के सामने अपनी बात रखी। लेकिन अभी भी सबसे बड़ा सवाल यही बना हुआ है कि क्या अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं ?

\u0915\u0947\u092a\u094d\u091f\u0928 \u0905\u092e\u0930\u093f\u0902\u0926\u0930 \u0938\u093f\u0902\u0939 पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह(Wikimedia commons)




आईएएनएस से बातचीत करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सरदार आर.पी.सिंह ने कहा कि अमरिंदर सिंह राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राष्ट्रवादी स्टैंड लेते रहे हैं। आज की मुलाकात दो राष्ट्रवादी नेताओं की मुलाकात थी और हमारे दरवाजे सभी राष्ट्रवादियों के लिए खुले हैं। उन्होने कहा कि एक तरफ कांग्रेस एक राष्ट्रवादी फौजी का अपमान करता है और दूसरी तरफ टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य को पार्टी में शामिल करता है।

आईएएनएस से बातचीत करते हुए पंजाब भाजपा के प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम ने कहा कि राष्ट्रहित में बात करने वालों के लिए हमारे दरवाजे खुले हैं।

यह भी पढ़ें : जातीय जनगणना को लेकर मुखर नीतीश, नए सियासी समीकरण की तलाश!

जाहिर है कि दोनों ही पक्ष अभी इस सवाल का ठोस जवाब देने को तैयार नहीं है लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में लगभग एक घंटे तक चली मुलाकात ने राजनीतिक माहौल को और गर्म कर दिया है।(आईएएनएस-PS)

Popular

कई वर्षों से टीम को सेवा दे रहे हैं श्रीधर(Wikimedia commons)

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच रामाकृष्णन श्रीधर जिनका टीम के साथ टी20 विश्व कप आखिरी दौरा है, उन्होंने राष्ट्रीय टीम की सेवा करने का मौका देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद दिया। आपको बता दें श्रीधर का कार्यकाल टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। फील्डिंग कोच ने इंस्टाग्राम के जरिए अपने विचार प्रकट किए।


Keep Reading Show less

बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रौशन।(Wikimedia Commons)

बॉलीवुड के सबसे हैंडसम एक्टर कहे जाने वाले ऋतिक रोशन अपने बेहतरीन लुक्स के अलावा कमाल के नृत्य कौशल के लिए भी अक्सर सुर्ख़ियों में रहते हैं।

सोशल मीडिया पर वे अक्सर अपने फैंस के लिए वीडियोज शेयर करते रहते हैं। हाल ही में उन्होंने अपने वर्कआउट सेशन के दौरान के वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर किया जो देखते ही देखते वायरल हो गया।

Keep Reading Show less

निहंग सिख समाज को गुरु की फौज भी कहा जाता है।(NewsGram Hindi)

बीते कुछ दिनों से मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक आपने "निहंग सिख" शब्द को कई बार सुना होगा। आज हम आपको इन्हीं निहंग सिख का भूतकाल और वर्तमान बताएंगे।

निहंग शब्द का वास्तविक अर्थ क्या है, इसके पीछे भी काफी भेद है। कुछ इतिहासकार निहंग को एक फारसी शब्द मानते है जिसका अर्थ मगरमच्छ होता है। कहा जाता है, यह नाम मुगलों ने दिया था क्योंकि सिख लड़ाके युद्ध में मगरमच्छ की तरह युद्ध करते थे। मुगलों का मानना था कि जिस तरह पानी में मगरमच्छ को हराना मुश्किल है उसी प्रकार युद्ध में निहंगों को हराना आसान नहीं है। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि निहंग, संस्कृत शब्द निशंक से लिया गया है जिसका अर्थ जिसे कोई शंका न हो, कोई डर न हो, मोह न हो। निहंग शब्द का इस्तेमाल श्री गुरु ग्रन्थ साहिब में भी हुआ है। यहां इस शब्द का अर्थ निडर और बेसब्र बताया गया है।

Keep reading... Show less