क्या मनोरंजन ‘सेना’ से बड़ा है?

भारतीय सेना का मनोबल हम आम नागरिकों के हौंसले से बुलंद होता है। किंतु क्या बॉलीवुड यह बात भूल चुकी है? अनुराग कश्यप के नए वेब शो से यही प्रतीत होता है।

0
148
Anurag kashyap अनुराग कश्यप AK vs AK Indian Air Force
अनुराग कश्यप (Wikimedia Commons)

भारतीय सेना की तीनों भाग ‘जल, थल एवं नभ’ देश की सुरक्षा के लिए चौबीसों घंटे तत्पर रहते हैं। तो यह हम आम नागरिकों का कर्त्तव्य बनता है कि हम उनका मनोबल बढ़ाएं न कि मनोरंजन और हवा-हवाई रुतबे के लिए उसको गिराने का प्रयास करें। किन्तु भारतीय मनोरंजन जगत समय-समय पर यह काम करता है। एक तरफ तो बॉलीवुड सर्जिकल स्ट्राइक पर फिल्म बनाकर वाह-वाहियाँ लूटता है तो दूसरी तरफ सेना की वर्दी पहने एक मशहूर कलाकार द्वारा अभद्र भाषा का प्रयोग किया जाता है। यह दोहरा मापदंड क्यों?

हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर ने नेटफिल्क्स पर रिलीज़ हो चुकी वेब-शो का ट्रेलर सोशल मीडिया पर साझा किया, जिसमे वह भारतीय वायु सेना की वर्दी पहनकर अभद्र भाषा का प्रयोग करते नज़र आ रहे हैं। और ऐसा नहीं उस ट्रेलर में इस बात को एक बार किया गया है बल्कि कई बार देखा गया। जिस पर भारतीय वायु सेना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस पर आपत्ति दर्ज कराई गई और इस विषय पर अनुराग कश्यप पर कठोर कदम उठाने का आश्वासन भी दिया।

भारतीय वायु सेना द्वारा लिखा गया कि ” वीडियो में भारतीय वायु सेना के वर्दी को गलत ढंग से पहना गया है और गलत भाषा का भी प्रयोग किया गया है। यह भारत के सशस्त्र बलों में उन लोगों के व्यवहार संबंधी मानदंडों के अनुरूप नहीं है। संबंधित दृश्यों को वापस लेने की आवश्यकता है।”

ऐसा पहली बार नहीं है जब बॉलीवुड ने सेना को गलत तरीके से प्रदर्शित किया है। इससे पहले भी ऑल्ट-बालाजी की मालकिन एकता कपूर को सेना की वर्दी को अभद्र दृश्य में इस्तेमाल करने के लिए माफ़ी मांगनी पड़ी थी। उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुआ था। ऐसी ही एक फिल्म है ‘न्यूटन’ जिसमे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की छवि को गलत तरीके से दिखाया गया था। इस विषय में सीआरपीएफ ने आपराधिक मामला भी दर्ज कराया था।

यह भी पढ़ें: क्या आज हिंदुत्व की बात करना मतलब घृणा फैलाना है?

अनुराग कश्यप पहले भी भारतीय सेना के विषय में अजीबों-गरीब एवं विवादास्पद ट्वीट कर चुके हैं। जैसे कि-

जिसमे वह सवाल कर रहे हैं कि क्या चीन के पास सर्जिकल स्ट्राइक का अधिकार नहीं है? यह ट्वीट तब किया गया जब भारत चीन में विवाद चरम पर था। इस ट्वीट का यह मतलब निकाला गया कि अनुराग कश्यप चीनी सैनिकों को भारतीय सेना पर आक्रमण न करने पर सवाल उठा रहे हैं। आपको याद होगा कि 11 जनवरी 2019 को भारत के वीर सैनिकों ने पाकिस्तान में पल रहे आतंकवादियों को घर में घुस कर मारा था। तो क्या अनुराग उस समय भारतीय सेना को आतंकवादी बता रहे थे? पहले सर्जिकल स्ट्राइक और अब भारतीय वायुसेना का अपमान, यह कब तक?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here