Saturday, August 15, 2020
Home ट्रेंड भारत रत्न डॉ अब्दुल कलाम के पुण्यतिथि पर पढ़ें उनके वो प्रसिद्ध...

भारत रत्न डॉ अब्दुल कलाम के पुण्यतिथि पर पढ़ें उनके वो प्रसिद्ध कथन, जो आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है

भले ही डॉक्टर अब्दुल कलाम आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनके ये कथन लाखों लोगों को आज भी प्रेरित करते हैं।

मिसाइल मैन के नाम से मशहूर दिवंगत पूर्व राष्ट्रपति और महान वैज्ञानिक डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की 5वीं पुण्यतिथि पर आज यानी 27 जुलाई को पूरा राष्ट्र उन्हें याद कर रहा है। डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम ‘अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम’ था । अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम, तमिलनाडु राज्य के एक तमिल मुस्लिम परिवार में हुआ था, और उनका निधन 27 जुलाई, 2015 को शिलांग में हुआ था। ‘मिसाइल मैन ऑफ इंडिया’ ने 2002 और 2007 के बीच भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार  संभाला था। कलाम जी का  जीवन ‘सरल और उच्च सोच’ के दर्शन के माध्यम से लाखों लोगों को प्रेरित  करते रहेगा।

आइये जानते हैं डॉक्टर अब्दुल कलाम के प्रसिद्ध कथन कौन कौन से हैं

  • अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो तो, पहले सूरज की तरह जलना सीखो ।
  • इंतज़ार करने वालों को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं ।
  • सपने वो नहीं होते हैं जो नींद में देखे जाते हैं, सपने वो होते हैं जो आपको नींद ही नहीं आने देते हैं।
  • राष्ट्र के सबसे अच्छे दिमाग कक्षा में सबसे आखिरी बेंच पर पाए जा सकते हैं।
  • आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते, लेकिन अपनी आदतों को बदल सकते हैं और निश्चित रुप से आपकी आदतें आपका भविष्य बदल देगी।
  • सफलता की कहानियां मत पढ़ो उससे आपको केवल एक संदेश मिलेगा, असफलता की कहानियां पढ़ो, उससे आपको सफल होने के विचार और सुझाव मिलेंगे। 
  • जीवन में फेल होते हैं तो कभी हार ना मानें क्योंकि; फेल मतलब फर्स्ट अटेम्प्ट इन लर्निंग होता है ।
  • अपनी पहली सफलता के बाद विश्राम मत करो, क्‍योंकि अगर आप दूसरी बार में असफल हो गए तो बहुत से होंठ यह कहने के इंतजार में होंगे कि आपकी पहली सफलता केवल एक तुक्‍का थी।
  • शिखर तक पहुंचने के लिए ताकत चाहिए होती है,चाहे वो माउंट एवरेस्ट का शिखर हो या आपका पेशा
  • नकली सुख की बजाय, ठोस उपलब्धियों के पीछे समर्पित रहिये।
  • ब्‍लैक” कलर भावनात्‍मक रूप से बुरा होता है लेकिन हर ब्‍लैकबोर्ड विद्यर्थियों की जिंदगी ‘ब्राइट’ बनाता है ।

भले ही डॉक्टर अब्दुल कलाम आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनके ये  कथन लाखों लोगों को आज भी प्रेरित करते हैं।

POST AUTHOR

जुड़े रहें

5,783FansLike
0FollowersFollow
152FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

रियाज़ नाइकू को ‘शिक्षक’ बताने वाले मीडिया संस्थानो के ‘आतंकी सोच’ का पूरा सच

कौन है रियाज़ नायकू? कश्मीर के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमांडर बुरहान वाणी 2016 में ...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया..” के सदाबहार गायक जसपाल सिंह की कहानी

“कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया” इस गाने को किसने नहीं सुना होगा। अगर आप 80’ के दशक से हैं...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

रामायण की अफीम से तुलना करने वाले प्रशांत भूषण लगातार हिन्दू धर्म को करते आयें हैं बदनाम

रामायण पर घटिया टिप्पणी करने वाले वकील प्रशांत भूषण पर इस शुक्रवार सुप्रीम कोर्ट द्वारा करारा तमाचा जड़ा गया। सुप्रीम कोर्ट...

हाल की टिप्पणी