भारत में एक प्रतिस्पर्धी डिजिटल मार्केटप्लेस को स्थापित करने के लिए सीएएफ में शामिल हुआ एडीआईएफ

भारत में एक प्रतिस्पर्धी डिजिटल मार्केटप्लेस को स्थापित करने के लिए सीएएफ में शामिल हुआ एडीआईएफ
अलायंस ऑफ डिजिटल इंडिया फाउंडेशन (एडीआईएफ) (Wikimedia Commons)

अलायंस ऑफ डिजिटल इंडिया फाउंडेशन(Alliance of Digital India Foundation) (एडीआईएफ) ने गुरुवार को भारत में एक प्रतिस्पर्धी डिजिटल मार्केटप्लेस(Digital Marketplace) सुनिश्चित करने के लिए यूएस-आधारित कोएलिशन फॉर ऐप फेयरनेस के साथ पार्टनरशिप की घोषणा की। एआईडीएफ के कार्यकारी निदेशक सिजो कुरुविला जॉर्ज(Curuvila George) ने कहा, "किसी भी डेवलपर को प्रतिस्पर्धा-विरोधी बाजार में काम करने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए जो नवाचार, सफलता और बढ़ने की क्षमता में बाधा डालता है।"

एप्पल(Apple) और गूगल(Google) दोनों की प्रतिस्पर्धा-विरोधी ऐप स्टोर नीतियों के खिलाफ वैश्विक हंगामा हुआ है, जिसमें सभी डिजिटल सामानों पर एक तेज गेटकीपर टैक्स शामिल है।

दोनों कंपनियां दुनिया भर के बाजारों में अपनी पहले से ही प्रभावी स्थिति को मजबूत करने के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं।

एडीआईएफ और वाशिंगटन स्थित सीएएफ क्रमश: भारत और अमेरिका में गूगल और एप्पल के एकाधिकार के खिलाफ चुनौती का नेतृत्व कर रहे हैं, और इस साझेदारी से दोनों संयुक्त वकालत की स्थिति बनाने और घटनाओं, सामग्री और प्रयासों को बढ़ाने के लिए सहयोग करेंगे।

ऐप फेयरनेस के लिए गठबंधन के कार्यकारी निदेशक मेघन डिमुजि़यो ने कहा, "इस साझेदारी के साथ, ऐप बाजार में प्रतिस्पर्धा-विरोधी प्रथाओं से लड़ने की वैश्विक गति का निर्माण जारी है। हमारा गठबंधन उन डेवलपर्स को सुनिश्चित करेगा जिन्हें निष्पक्ष बाजार में प्रतिस्पर्धा करने से रोका गया है, वे एकजुट होकर दुनिया भर में समाधानों की वकालत करने के लिए मिलकर काम करेंगे।"

यह भी पढ़ें-
भूमि पेडनेकर : अगर लोग मुझे साड़ी में सुंदर पाते हैं तो मुझे यह बहुत बड़ी तारीफ लगती है!

इस कदम से भारत एक बड़े डिजिटल मार्केटप्लेस के रूप में उभरेगा (Wikimedia Commons)

एडीआईएफ के मुताबिक, डिजिटल मार्केटप्लेस में प्रतिस्पर्धा लाने के लिए दक्षिण कोरिया का नया कानून इस दिशा में एक ऐतिहासिक कदम रहा है और भारत और अन्य क्षेत्रों में इसी तरह के कानूनों की महत्वपूर्ण आवश्यकता पर प्रकाश डाला गया है ताकि एक निष्पक्ष ऐप मार्केटप्लेस का मार्ग प्रशस्त किया जा सके ताकि डेवलपर्स नवाचार और विकास कर सकें।

Input-IANS ; Edited By- Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com