Anand Mahindra : विश्व विख्यात बिजनेस टायकून

Anand Mahindra : विश्व विख्यात बिजनेस टायकून
आनंद महिंद्रा आज पूरे विश्व में एक लोकप्रिय बिजनेस टायकून के रूप में प्रख्यात हैं। (Wikimedia Commons)

महिंद्रा ग्रुप के निदेशक एवं अध्यक्ष आंनद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने अपने 66वें जन्मदिन पर अपने सभी फैंस को, उन्हें बधाई देने के लिए धन्यवाद कहा है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा : मैं आप सभी की शुभकामनाओं से अभिभूत हो उठा हूं। मैं आप सभी को व्यक्तिगत रूप से प्रतिक्रिया नहीं दे पाऊंगा। लेकिन मेरी प्रार्थना है कि, आप और आपका परिवार सुरक्षित रहें और स्वस्थ रहे। 

1955 में जन्मे आनंद गोपाल महिंद्रा भारत में ही नहीं, पूरे विश्व में बिजनेस टायकून (Business Tycoon) के रूप में जाने जाते हैं। आनंद महिंद्रा ने 1981 में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एमबीए पूरा किया और बाद में महिंद्रा उर्जिन स्टील (Mahindra Ugine Steel) में शामिल हो गए। अपनी काबिलियत के दम पर आगे चलकर 1997 में आनंद महिंद्रा, महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के एमडी के रूप में नियुक्त हुए थे। आनंद महिंद्रा के नेतृत्व में महिंद्रा समूह ने, पॉवर बोट, मोटर वाहन, कृषि, वित्तीय, सॉफ्टवेयर और रियल एस्टेट सहित कई जगहों पर अपनी पैठ बनाई। महिंद्रा ग्रुप ने दुनिया भर में मार्क ब्रांड के अधिग्रहण में सक्रिय भूमिका निभाई। जैसे कि,सेसंयॉन्ग मोटर्स (Ssangyong Motors), प्यूज़ो मोटरसाइकल्स (Peugeot Motorcycles), गिप्सलैंड एरोनॉटिक्स, एरोस्टाफ ऑस्ट्रेलिया, बीएसए, जवा आदि। सात दशक से अधिक समय के साथ महिंद्रा ग्रुप में 150 से अधिक कंपनियां शामिल हैं। एक सौ से भी अधिक देशों में मौजूद हैं और 2,50,000 से अधिक लोग कार्यरत हैं। इसके अतिरिक्त शिक्षा के क्षेत्र में भी महिन्द्रा ग्रुप्स ने अपना पूरा योगदान दिया है। महिंद्रा एजुकेशन ट्रस्ट, आर्थिक रूप से वंचित छात्रों को छात्रवृत्ति, अनुदान और ऋण प्रदान करता है। 

पूरा विश्व इस दौरान या पिछले एक साल से कोरोना महामारी से जूझ रहा है। सभी ने अपने स्तर पर हर संभव प्रयास किए हैं। इस संकट की घड़ी में अपना योगदान अवश्य दिया है और इसी क्रम में महामारी के प्रकोप से, बिजनेस टायकून आनंद महिंद्रा ने घातक कोविड -19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। 

आनंद महिंद्रा ने यह सुनिश्चित किया है कि देश के पिछड़े क्षेत्रों तक भोजन की सुविधाओं को पहुंचाया जा सके। मास्क, वेंटिलेटर और हैंड सैनिटाइजर के निर्माण के लिए भी महिंद्रा ग्रुप नए प्रयोग कर रहा है। 

आनंद महिंद्रा ने अस्पतालों में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए एक उपाय को शामिल किया है। जहां, जब तक कोविड-19 टीके की सीधे आपूर्ति नहीं होती, तब तक खुले में कैंप लगाकर अस्पतालों और लोगों की मदद कर सकते हैं। इससे अस्पतालों पर दबाव कम पड़ेगा और अन्य कार्य भी नहीं रुकेंगे। महिंद्रा ने कहा, स्थानीय क्लब के साथ मिलकर एक टीकाकरण अभियान को शुरू किया जा सकता है। इससे टीकाकरण में भी तेजी आएगी। 

आनंद महिंद्रा आज पूरे विश्व में एक लोकप्रिय बिजनेस टायकून के रूप में प्रख्यात हैं। महिंद्रा ने अपनी मेहनत से महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड को उस ऊंचाई पर पहुंचा दिया है जहां से आज सभी इनकी वाहवाही करते हैं।

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com