गन्ने की बढ़िया पैदावार के लिए मिला पुरस्कार

उत्तर प्रदेश में गन्ना उपज प्रतियोगिता हर वर्ष आयोजित की जाती है। (Pixabay)
उत्तर प्रदेश में गन्ना उपज प्रतियोगिता हर वर्ष आयोजित की जाती है। (Pixabay)

सहारनपुर के एक किसान सुभाष चंद्र सिंह को 2019-20 के पेराई सत्र के लिए राज्य की गन्ना उपज प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार दिया गया है। गन्ना उत्पादक 44 जिलों के कुल 107 आवेदकों में से सिंह ने 2,329 क्विंटल प्रति हेक्टेयर का उत्पादन करके टोंडरपुर गन्ना क्षेत्र में प्रतियोगिता जीती। शामली के सत्य प्रकाश तिवारी 1,851 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादन कर दूसरे स्थान पर रहे और गाजियाबाद के रणवीर सिंह 1,388 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज के साथ तीसरे स्थान पर रहे। बता दें कि राज्य में औसत गन्ना उपज 811 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है।

वहीं गन्ना प्लांट प्रोडक्शन की श्रेणी में गोंडा जिले के सत्य प्रकाश ने 2,121 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उपज के साथ प्रथम पुरस्कार जीता। बिजनौर के 2 गन्ना उत्पादक – चांदपुर के जगत सिंह और धामपुर के ब्रह्मपाल सिंह को क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान मिला, उन्होंने क्रमश: 2,069 और 1,902 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज प्राप्त की थी।

गन्ना आयुक्त संजय भूसरेड्डी ने कहा, "विजेताओं के चयन में पूरी पारदर्शिता और निष्पक्षता सुनिश्चित की गई और राज्य गन्ना प्रशासन के अधिकारियों के सामने प्रत्येक प्रतियोगी की गन्ने की कटाई को मापा गया था।"

विजेताओं को प्रमाणपत्र के साथ 10,000 रुपये, 7,000 रुपये और 5,000 रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। यह पुरस्कार जल्द ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लखनऊ में दिए जाएंगे। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com