PM दौरे से पहले बादल ने की पंजाब के लिए पैकेज की मांग

PM दौरे से पहले बादल ने की पंजाब के लिए पैकेज की मांग
प्रकाश सिंह बादल [Wikimedia Commons]

शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) के मुखिया और पंजाब के पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके प्रकाश सिंह बादल (Parkash Singh Badal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि वह पंजाब के दौरे के लिए सही माहौल तैयार करें। उन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फिरोजपुर में अपनी रैली की पूर्व संध्या पर पंजाब के लिए आर्थिक, राजनीतिक, कृषि और क्षेत्रीय पैकेज की घोषणा करने की मांग की।

बता दें कि प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) दो साल बाद पंजाब के दौरे पर हैं। आखिरी बार उन्होंने नवंबर 2019 में गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती पर करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए राज्य का दौरा किया था।

बादल ने कहा कि इसके लिए पहले उन्हें बेअदबी की घटना के पीछे साजिश का पर्दाफाश करना चाहिए और राज्य में बड़ी राजनीतिक, धार्मिक और आर्थिक मुद्दों को हल करना चाहिए। उन्होंने यहां अपने एक बयान में पांच प्रमुख मुद्दों को गिनवाया और कहा कि यह प्रधानमंत्री की 5 जनवरी की यात्रा को विश्वसनीयता और सम्मान देगा।

उन्होंने (Parkash Singh Badal) कहा, पीएम के रूप में, आप बहुत सद्भावना और मेरी व्यक्तिगत कृतज्ञता अर्जित करेंगे, यदि आप यहां आने से पहले पंजाबियों की मांगों को पूरा करने के लिए आर्थिक, राजनीतिक, कृषि और क्षेत्रीय पैकेज की घोषणा करते हैं।

बादल ने 1984 के नरसंहार के लिए न्याय की प्रतीक्षा कर रहे हजारों सिख परिवारों की ओर भी प्रधानमंत्री का ध्यान आकर्षित किया और कहा कि प्रधानमंत्री का दौरा वास्तव में एक स्वागत योग्य संकेत होगा और कांग्रेस की पिछली सरकारों द्वारा दिए गए कई घावों को ठीक कर देगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कर्ज के कारण डूबे किसानों को संकट से बाहर निकालने के लिए एक बड़े कृषि आर्थिक पैकेज की भी मांग की।

उन्होंने कहा कि चुनाव के इतने करीब होने के बावजूद प्रधानमंत्री का राज्य का दौरा हमेशा स्वागत योग्य है।

किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले लोगों के लिए सहायता की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि इन बलिदानों को केंद्र सरकार द्वारा स्वीकार किया जाना चाहिए और उनके परिवारों की मदद करनी चाहिए। (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.