चीन का भारत से व्यापारिक संबंधों को वापस पटरी पर लाने का आग्रह

भारत सरकार ने हाल ही में 43 चीनी मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगा दिया था। (Pixabay)
भारत सरकार ने हाल ही में 43 चीनी मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगा दिया था। (Pixabay)

भारत द्वारा नवीनतम प्रतिबंध के तौर पर 43 चीनी मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगाए जाने से व्यथित चीन ने बुधवार को भारत सरकार से पारस्परिक हित में व्यापार संबंधों को बहाल करने का आग्रह किया है। नई दिल्ली में चीनी दूतावास द्वारा जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया, "चीन और भारत एक दूसरे के लिए खतरों के बजाय विकास के अवसर हैं। दोनों पक्षों को आपसी लाभ और बातचीत और संवाद के आधार पर द्विपक्षीय आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को वापस पटरी पर लाना चाहिए।"

अलीएक्सप्रेस, डिंगटॉक सहित चीन के 43 मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगाने के भारत सरकार के फैसले से संबंधित एक मीडिया सवाल का दूतावास का जवाब दे रहा था।

बयान में कहा गया है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी शासन "चीन के मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगाने के लिए भारतीय पक्ष द्वारा बार-बार बहाने के रूप में राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देने का कड़ाई से विरोध करता है।"

दूतावास ने आगे दावा किया कि चीनी सरकार ने हमेशा चीनी कंपनियों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नियमों का पालन करने, कानूनों और विनियमों के अनुपालन में काम करने और सार्वजनिक व्यवस्था और अच्छी नैतिकता के अनुरूप काम करने की आवश्यकता पर जोर दिया है।

अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए – Climate Change Increases Risks of Diseases in Animals

दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि चीन को उम्मीद है कि भारत "चीन सहित विभिन्न देशों के सभी बाजारों के लिए निष्पक्ष, और गैर-भेदभावपूर्ण व्यापारिक वातावरण प्रदान करेगा और डब्ल्यूटीओ नियमों का उल्लंघन करने वाले भेदभावपूर्ण प्रथाओं में सुधार करेगा।

यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और चीन के बीच जून से लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर गतिरोध है। भारत ने चीनी आक्रमण के प्रतिशोध में कई कूटनीतिक उपाय किए हैं, जिसमें कदम उठाए हैं जिसमें डेटा सुरक्षा मुद्दों पर चीनी एलिकेशंस पर प्रतिबंध लगाना भी शामिल है। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com