दिल्ली: कोरोना में बेरोजगार हुए युवा, रोजगार बाजार पोर्टल पर ढूंढ रहे हैं नौकरी

वहीं रोजगार प्रदान करने वाले उद्यमी भी रोजगार की जानकारी इस पोर्टल पर डालते हैं। (सांकेतिक चित्र, Pixabay)
वहीं रोजगार प्रदान करने वाले उद्यमी भी रोजगार की जानकारी इस पोर्टल पर डालते हैं। (सांकेतिक चित्र, Pixabay)

पिछले साल दिल्ली सरकार की ओर से रोजगार बाजार पोर्टल शुरू किया गया था। दिल्ली में विनाशकारी कोविड लहर के बाद अनलॉक प्रक्रिया के दौरान रोजगार बाजार दिल्ली के बेरोजगारों के लिए लाइफलाइन बना हुआ है। रोजगार बाजार में जून में रोजाना लगभग एक हजार नए नौकरी खोजने वालों को पंजीकृत किया गया और 300 नई नौकरियां पोस्ट की गईं। दिल्ली सरकार ने पिछले साल नौकरी खोजने वालों और नियोक्ताओं को जोड़ने के लिए रोजगार बाजार पोर्टल लॉन्च किया था। इस पोर्टल पर रोजगार ढूंढ रहे व्यक्ति अपना पंजीकरण सकते हैं। वहीं रोजगार प्रदान करने वाले उद्यमी भी रोजगार की जानकारी इस पोर्टल पर डालते हैं।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister Manish Sisodia) ने कहा कि दिल्ली में कुल 34,212 नौकरी खोजने वालों को पंजीकृत किया गया है। इसके अलावा 1 से 30 जून 2021 के बीच 9,522 नई भर्तियां पोस्ट की गईं। नौकरी चाहने वालों और रोजगार देने वालों के बीच में हर दिन 2500 बार व्हाट्सएप, फोन कॉल और सीधे आवेदन के माध्यम से संपर्क हुआ है। जून में नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के बीच कुल मिलाकर 75,000 बार संपर्क हुआ है।

अनलॉकिंग प्रक्रिया के दौरान नौकरियों में फिर से बढ़ोतरी आयी है। रोजगार बाजार सभी वर्गों के लिए वन-स्टॉप पोर्टल साबित हुआ है। (Pixabay)

इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान रोजगार बाजार पोर्टल (Delhi Government Job Portal) ने व्यवसायों को डिलीवरी और उपभोक्ता सहायता के लिए कर्मचारी रखने में मदद की। जबकि अनलॉकिंग प्रक्रिया के दौरान नौकरियों में फिर से बढ़ोतरी आयी है। रोजगार बाजार सभी वर्गों के लिए वन-स्टॉप पोर्टल साबित हुआ है। सूक्ष्म व्यवसाय से लेकर, रसोइया, दर्जी, टेक्नीशियन, एमएसएमई लेखाकार, वेब डिजाइनर, सेल्स और मार्केटिंग पर्सन से लेकर अस्पतालों तक में कर्मचारियों को नौकरी देने के लिए दिल्ली सरकार के रोजगार बाजार पर भरोसा जताया है।

उपमुख्यमंत्री के मुताबिक वर्तमान में सबसे अधिक नौकरियां ग्राहक सहायता, डिलीवरी एक्जीक्यूटिव और सेल्स में हैं। रोजगार बाजार पर फुल टाइम जॉब के साथ-साथ पार्ट टाइम और वर्क फ्रॉम होम नौकरी के विकल्प भी उपलब्ध हैं। फ्रेशर्स के लिए लगभग 45 फीसदी पोस्ट उपलब्ध हैं। वहीं पुरूष-महिला के हिसाब से देखें तो कुल 41 फीसदी नौकरी उपलब्ध हैं। जिसमें से पुरुषों के लिए 36 फीसदी और महिलाओं के लिए 23 फीसदी नौकरी उपलब्ध हैं।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री एवं रोजगार मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार कोरोना महामारी के आर्थिक प्रभाव को लेकर सबसे ज्यादा चिंतित है। इसलिए पिछले साल बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए रोजगार बाजार पोर्टल लॉन्च किया। (आईएएनएस-SM

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com