खुद का रोबोट संस्करण न बनें: मोदी

खुद का रोबोट संस्करण न बनें: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Wikimedia Commons)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को कानपुर मेट्रो (Kanpur Metro) के उद्घाटन के दौरान आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के 54 वें दीक्षांत समारोह में बोलते हुए छात्रों और युवाओं को प्रौद्योगिकी में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए मानवता को न भूलने की सलाह दी। प्रधानमंत्री ने कहा, "प्रौद्योगिकी की अपनी ताकत है लेकिन आपको मानवीय तत्व को नहीं भूलना चाहिए। खुद का रोबोट संस्करण न बनें। भावनाओं को न भूलें और दयालुता के लिए कोई पासवर्ड नहीं होना चाहिए। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ठीक है लेकिन मानव बुद्धि को भी महत्व दिया जाना चाहिए।"

उन्होंने कहा कि जीवन में, आराम और चुनौती के बीच एक विकल्प होगा लेकिन आपको हमेशा चुनौती का चयन करना चाहिए क्योंकि यही आपको आगे ले जाएगा।

मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा, "यह एक महान क्षण है कि जब भारत स्वतंत्रता के 100 वर्ष मनाएगा, आप इसकी यात्रा का हिस्सा होंगे। पिछले सात वर्षों में, स्टार्टअप, स्टैंड-अप और अटल इनोवेशन मिशन हुए हैं जो अपार अवसर प्रदान करते हैं। हमने नीति अवरोधों को हटा दिया। आज, भारत 50,000 स्टार्टअप के साथ दूसरा और 75 यूनिकॉर्न के साथ तीसरा सबसे बड़ा देश है।"

देश को प्रगति के मार्ग पर ले जाने वाले युवाओं को प्रेरणा देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज लगभग हर क्षेत्र प्रौद्योगिकी से संचालित है और आपके पास अपने सपनों को साकार करने के लिए एक विशाल कैनवास है। आप देश को दिशा और गति दे सकते हैं।

उन्होंने (PM Narendra Modi) कहा, "आप देश के भविष्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। अब 'आत्मनिर्भर' बनने का समय है- यहां तक कि आपके माता-पिता भी चाहेंगे कि आप अपने पैरों पर खड़े हों।"

साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि सरकार छात्रों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहेगी।

प्रधानमंत्री ने समारोह में ब्लॉकचेन-आधारित डिजिटल डिग्री का शुभारंभ किया। इसके तहत छात्रों को राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना के तहत संस्थान में विकसित एक आंतरिक ब्लॉकचेन संचालित तकनीक (Blockchain Technique) के माध्यम से डिजिटल डिग्री जारी की गई। इस डिजिटल डिग्री की खास बात ये है कि ये विश्व स्तर पर सत्यापित की जा सकती है और इसकी फर्जी कॉपी नहीं बनाई जा सकती। (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com