गूगल ने भारत में डिजिटल क्रांति को बढ़ावा देने के लिए नए कदम उठाने की घोषणा की

गूगल ने भारत में डिजिटल क्रांति को बढ़ावा देने के लिए नए कदम उठाने की घोषणा की
गूगल भारत में डिजिटल क्रांति को बढ़ावा देने के लिए नए कदम उठाएगा। (Wikimedia Commons)

भारत(India) की बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था(Digital Economy) को देखते हुए टेक जायंट गूगल ने इसका लाभ लोगों तक पहुंचाने के लिए गूगल ने गुरुवार को भारत की डिजिटल परिवर्तन यात्रा में मदद करने के लिए कई पहलों की घोषणा की। कंपनी ने पहली बार गूगल(Google) असिस्टेंट-इनेबल्ड, एंड-टू-एंड वैक्सीन बुकिंग फ्लो के एक पायलट की घोषणा की जो उपयोगकर्ताओं को कोविन वेबसाइट पर टीकाकरण नियुक्ति की बुकिंग की प्रक्रिया के माध्यम से मार्गदर्शन करेगा।

कंपनी के एक ब्लागस्पाट ने गुरूवार को कहा, ""हमने इस एकीकरण को सक्षम करने के लिए कोविन(Cowin) के साथ मिलकर काम किया है, जहां हर जगह लोग अधिक निर्देशित तरीके से आसानी से वैक्सीन के लिए अपॉइंटमेंट बुक कर सकेंगे।"

यह फीचर अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, बंगाली, मराठी, तमिल और तेलुगु सहित आठ भारतीय भाषाओं में काम करेगा और यह 2022 की शुरुआत में शुरू होगा। गूगल ने सर्च में एक फीचर की भी घोषणा की है जो उपयोगकर्ताओं को मूल रूप से अन्य भाषाओं में लिखे गए वेब पेजों तक पहुंचने और इसे उनकी पसंदीदा भाषा में देखने का विकल्प देगा।

कंपनी के अनुसार, यह सुविधा अब स्थानीय भाषा के उपयोगकर्ताओं को खोज करने पर उच्च गुणवत्ता वाली वेब सामग्री उपलब्ध कराएगी और वे चाहें तो पृष्ठ को उसकी मूल स्रोत भाषा में देख सकेंगे। यह अब हिंदी, कन्नड़, तमिल, तेलुगु और मलयालम सहित पांच भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

तकनीकी दिग्गज उन उपयोगकर्ताओं के लिए खोज परिणामों को जोर से सुनने की क्षमता पेश करके भारतीय भाषाओं में आवाज संचालित अनुभवों का विस्तार कर रहे हैं, जिन्हें सुनने के द्वारा जानकारी का उपभोग करना आसान लगता है।

गूगल पे(Google Pay) ऐप को और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाने के लिए, इसने ऐप पर हिंग्लिश के अतिरिक्त विकल्प- हिंदी और अंग्रेजी के एक संवादी हाइब्रिड की घोषणा की है।

कंपनी ने कहा, "हिंग्लिश की शुरुआत गूगल पे के माध्यम से इन इंटरैक्शन को और भी सहज और स्वाभाविक बनाने का हमारा प्रयास है।"

स्थानीय अधिकारियों के सहयोग से, गूगल भारत में कई तरह के जलवायु संबंधी प्रयासों पर काम कर रहा है जो समय पर और महत्वपूर्ण जानकारी को सामने लाने और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद कर सकते हैं।

गूगल सर्च में लेटेस्ट वायु गुणवत्ता जानकारी लाने के लिए गूगल ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ भागीदारी की है (Pixabay)

गूगल सर्च में लेटेस्ट वायु गुणवत्ता जानकारी लाने के लिए गूगल ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ भागीदारी की है। इसने चरम जलवायु परिस्थितियों के लिए मौसम अलर्ट शुरू करने के लिए भारतीय मौसम विभाग के साथ भी भागीदारी की है।

Input-IANS ; Edited By- Saksham Nagar

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com