क्या शिवसैनिकों में कानून का डर ख़त्म हो गया है?

क्या शिवसैनिकों में कानून का डर ख़त्म हो गया है?
मदन शर्मा, पीड़ित (Twitter)

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर एक कार्टून बनाने को लेकर सेवानिवृत्त नौसैनिक पर हमला करने के मामले में शिवसेना के दो कार्यकताआओं को गिरफ्तार किया गया है। यह जानकारी अधिकारियों ने शनिवार को दी।

पीड़ित मदन शर्मा (65) कांदिवली के निवासी है, जिन्होंने कथित तौर पर अपनी सोसायटी के सदस्यों को व्हाट्सएप ग्रुप पर एक ऐसा कार्टून साझा किया था, जिसमें ठाकरे को कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार की तस्वीरों के सामने हाथ जोड़े दिखाया गया। उनकी बेटी शीला शर्मा ने कहा, हालांकि, सोसायटी में किसी ने भी प्रतिक्रिया नहीं दी और किसी ने कार्टून को कदम को भेज दिया।

समता नगर पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा, यह कार्टून शाखा प्रमुख कमलेश कदम को आपत्तिजनक लगी और उनके साथ कई शिवसैनिकों ने शुक्रवार को कांदिवली पूर्व में शर्मा पर धावा बोल दिया। समूह में आए करीब 8-10 लोग, जो कथित तौर पर शिवसैनिक थे, उन्होंने शर्मा पर सोसायटी के परिसर में हमला किया।

मदन शर्मा को शिवसैनिकों के हमले में गहरी चोटें आई हैं। (Twitter)

भारतीय जनता पार्टी के विधायक अतुल भटखल्कर द्वारा पोस्ट किए गए सोसायटी के एक सीसीटीवी क्लिप में हमलावरों को शर्मा का पीछा करते हुए दिखाया गया है। हमलावर शर्मा के शर्ट की कॉलर पकड़ कर उन्हें खींचते हुए ले जा रहे हैं और उन्हें पीट रहे हैं, वहीं सोसायटी के सुरक्षाकर्मी उन्हें रोकने की कोई कोशिश नहीं कर रहे हैं।

शर्मा को हालांकि गंभीर चोटें नहीं आई, लेकिन उनकी आंखों में चोट आने के कारण वह लाल और सूज गई हैं। हमले के बाद वह जल्द ही घर पहुंचने में कामयाब रहे और फिर शिकायत दर्ज करने के लिए पुलिस स्टेशन गए। इस घटना को लेकर कई भाजपा नेताओं ने सरकार की निंदा की।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (उत्तर) दिलीप सावंत ने कहा कि कदम के अलावा, अन्य ज्ञात और अज्ञात हमलावरों पर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किए गए हैं।(आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com