हिंदुत्व की शुरुआत 5000 साल पहले हुई थी: हिमंत बिस्व

असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा| (File Photo)
असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा| (File Photo)

असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने शनिवार (10 जुलाई) को उनकी सरकार का दूसरा महीना पूरा होने के मौके पर आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हिंदुत्व जीवन का एक तरीका है। उन्होंने यह भी कहा कि "मैं या कोई इसे कैसे रोक सकता है।" "यह युगों से चला आ रहा है। लगभग सभी, यहां तक की अन्य धर्मों के अनुयायी हिन्दुओं के वंशज हैं। एक ईसाई या मुसलमान सभी किसी समय हिन्दुओं से निकले हैं।" 

उन्होंने यह भी कहा कि, हिंदुत्व (Hinduism) की शुरुआत 5000 साल पहले हुई थी और इसे रोका नहीं जा सकता। इसको हटाया भी नहीं जा सकता क्योंकि इसे हटाने का मतलब होगा "अपनी जड़ों और मातृभूमि से दूर जाना।" 

सीएम ने आगे लव जिहाद (love jihad) के मुद्दे के बारे में बोलते हुए कहा "मुझे इस शब्द को लेकर ही आपत्ति है।" हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि सरकार किसी भी महिला के साथ हुए धोखे को बर्दाश्त नहीं करेगी। चाहे वह हिन्दू हो यह मुस्लिम। हमारी बेटी – बहनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ऐसे अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

इससे अतिरिक्त इससे पहले मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व ने राज्य मंत्रिमंडल में फेर बदल भी किया। उन्होंने कहा कि, राज्य में स्वदेशी आस्था और संस्कृती का नया  स्वतंत्र विभाग बनाया जाएगा। साथ ही उन्होनें इस बात की पुष्टि भी कि की सरकार "दो बच्चों की नीति" को चरणबद्ध तरीके से लागू करेगी। जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population Control Act) को समय की आवश्कता बताते हुए आठ अलग – अलग समितियों का भी गठन किया गया है। यह सभी समितियां शिक्षा, संस्कृती, जनसंख्या नियंत्रण, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य, कौशल विकास, समितियां स्वास्थ्य, वित्तीय समावेश के मुद्दों से जुड़ी हुई हैं। (SM)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com