घर से भाग कर आतंकवादी समूह आईएस में शामिल होने वाली हुदा मुथाना को यूएस सुप्रीम कोर्ट का झटका
हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह आईएस में शामिल हुई थी। घर वापसी की उसकी अपील पर यूएस कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया (Wikimedia Commons )

घर से भाग कर आतंकवादी समूह आईएस में शामिल होने वाली हुदा मुथाना को यूएस सुप्रीम कोर्ट का झटका

2014 में अमेरिका के अपने घर से भाग कर सीरिया के अतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने वाली 27 वर्षीय हुदा मुथाना वापस अपने घर लौटने की जद्दोजहद में लगी है। हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के साथ शामिल हुई साथ ही आईएस के साथ मिल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर आतंकवादी हमलों की सराहना की और अन्य अमेरिकियों को आईएस में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया था। हुदा मुथाना को अपने किये पर गहरा अफसोस है।

वर्ष 2019 में हुदा मुथाना के पिता ने संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट में अमेरिका वापस लौटने के मामले पर तत्कालीन ट्रंप प्रशासन के खिलाफ मुक़द्दमा दायर किया था। संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बिना किसी टिप्पणी के हुदा मुथाना के इस मामले पर सुनवाई से इनकार कर दिया।

हुदा मुथाना द्वारा दर्ज की गई अपील के अनुसार, उनका जन्म न्यू जर्सी में साल 1994 में यमनी राजनयिक के यहाँ हुआ था। बर्मिंघम के अलबामा में वो पली बढ़ी लेकिन संघीय कानून के तहत, अमेरिका में पैदा हुए राजनयिकों के बच्चों को स्वचालित रूप से नागरिकता नहीं दी जाती है।

हुदा मुथाना का जन्म न्यू जर्सी में साल 1994 में यमनी राजनयिक के यहाँ हुआ था। घर से भाग कर साल 2014 में वह आतंकवादी समूह आईएस के साथ जुड़ गई ( Pixabay )

अदालती दस्तावेजों के अनुसार हुदा कॉलेज छोड़कर और अपनी फ़ीस के पैसों से तुर्की का टिकट खरीदकर अमेरीका से भाग गई थी। वहाँ जाकर हुदा मुथाना वर्ष 2014 में आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के साथ शामिल हो गई उस दौरान उसने इस्लामिक स्टेट के दो लडाकों से शादी कर ली जिनकी आतंकवादी गतिविधियों मे संलिप्त होने के कारण मौत हो गई। अब 27 वर्षीय हुदा मुथाना अपने 18 महीने के बच्चे के साथ वापस अमेरिका लौटना चाहती है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के नेतृत्व में उनका पासपोर्ट रद्द करने का फैसला लिया गया था। हुदा मुथाना अपने 18 महीने के बेटे एवं इस समय आईएस छोड़ कर भागने वाले दो अन्य लोग के साथ सीरिया के एक शरणार्थी शिविर में रह रही है।

Source: Associated Press; Edited by Abhay Sharma

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com