एक सर्वे में जापान में ज्यादातर लोग टोक्यो ओलंपिक को रद्द कराने के पक्ष में

एक सर्वे में जापान में ज्यादातर लोग टोक्यो ओलंपिक को रद्द कराने के पक्ष में

जापान में करीब 80 फीसदी लोगों का कहना है कि इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों को या तो रद्द कर देना चाहिए या फिर से स्थगित कर देना चाहिए। हाल में हुए एक ताजा ओपिनियन पोल में इसका खुलासा हुआ है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, जापान के प्रसारणकर्ता एनएचके ने इस सप्ताह एक टेलीफोन सर्वे किया, जिसमें उसने पाया कि 35.3 फीसदी लोग चाहते हैं कि इन खेलों को रद्द कर देना चाहिए, जबकि 44.8 फीसदी लोगों का कहना है कि इसे स्थगित कर देना चाहिए।

ऐसी ही एक सर्वे पिछले महीने दिसंबर में की गई थी, जिसमें जबकि 32 फीसदी लोगों का कहना था कि इसे रद्द कर देना चाहिए। वहीं, 31 फीसदी लोगों का मानना था कि इसे भविष्य के लिए स्थगित कर देना चाहिए। इसका मतलब है कि पिछले चार सप्ताह के दौरान कोविड-19 स्थिति को देखने के बाद 17 प्रतिशत और अधिक लोगों का मानना है कि या तो टोक्यो ओलंपिक को स्थगित कर देना चाहिए या फिर इसे रद्द कर देना चाहिए।

यह भी पढ़ें : गूगल ने व्हाट्सऐप ग्रुप चैट लिंक हटाए

इससे पहले, अक्टूबर में भी एक सर्वे किया था, जिसमें 40 फीसदी लोगों ने कहा था कि इन खेलों का आयोजन होना चाहिए जबकि 23 फीसदी लोगों ने कहा था कि इसे रद्द कर देना चाहिए। वहीं, 25 फीसदी लोगों ने कहा था कि इसे स्थगित कर देना चाहिए। जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा पहले ही यह वादा कर चुके हैं कि उनकी सरकार अगले साल सुरक्षित ओलंपिक आयोजित कराने को लेकर प्रतिबद्ध है। टोक्यो ओलंपिक खेलों का आयोजन इस साल जुलाई-अगस्त में होना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे इस साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया था । (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.