हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत ‘एक अहम साझीदार’ : लॉयड ऑस्टिन

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत ‘एक अहम साझीदार’ : लॉयड ऑस्टिन

 अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत को 'एक अहम साझीदार' माना है और इसके साथ संबंधों को प्राथमिकता दिया है। पेंटागन के प्रवक्ता जॉन कर्बी ने यह जानकारी दी।

कर्बी ने बुधवार को वाशिंगटन में एक न्यूज ब्रीफिंग के दौरान कहा, "रक्षा मंत्री इस संबंध को प्राथमिकता दे रहे हैं, इसे और मजबूत होता देखना चाहते हैं।"

कर्बी ने भारत के साथ संबंधों पर एक रिपोर्टर द्वारा ऑस्टिन के विचारों के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा, "वह ऐसा करने की पहल पर काम करने के लिए बहुत उत्सुक हैं।"

उन्होंने कहा, "ऑस्टिन भारत को एक अहम साझीदार मानते हैं, खासकर जब आप हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सभी चुनौतियों पर विचार करते हैं।"

अमेरिकी चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत 'एक अहम साझीदार' | (Social media) 

पेंटागन ने कहा कि ऑस्टिन ने पिछले महीने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बात की थी और भारत-अमेरिका के बीच बड़ी रक्षा साझेदारी के लिए विभाग की प्रतिबद्धता पर जोर दिया था।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पिछले स्पताह पेंटागन के दौरे के दौरान नई रणनीति टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की, ताकि हम चीन से संबंधित मामलों पर मजबूती से आगे बढ़ सकें।
 

उन्होंने कहा कि हमें शांति बनाए रखने के लिए चीन की ओर से बढ़ रही चुनौतियों से निपटने और हिंद-प्रशांत और विश्व स्तर पर हमारे हितों की रक्षा करने की जरूरत है। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com