“अगले साल भूटान का उपग्रह अंतरिक्ष में भेजेगा भारत”

भारत द्वारा निजी उद्यमों के लिए अपना अंतरिक्ष क्षेत्र खोला गया है। (Unsplash)
भारत द्वारा निजी उद्यमों के लिए अपना अंतरिक्ष क्षेत्र खोला गया है। (Unsplash)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को रुपे कार्ड के दूसरे चरण का शुभारंभ करते हुए घोषणा की कि भारत जल्द ही भूटानी उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजेगा। उन्होंने कहा, "भारत ने निजी उद्यमों के लिए अपना अंतरिक्ष क्षेत्र खोला है। यह नवाचार, क्षमता और कौशल को बढ़ावा देगा। इसरो अगले साल भूटान का उपग्रह भेजेगा और उस पर काम तेजी से चल रहा है।"

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर भूटानी दर्शकों से कहा, "अन्य भारतीयों की तरह मुझे भूटान से बहुत प्यार और दोस्ती है, जब मैं आप सभी से मिलता हूं, एक खास अपनेपन की अनुभूति होती है।"

प्रधानमंत्री ने कहा, "भारत और भूटान के बीच संबंध महत्वपूर्ण और दुनिया के लिए सबसे अच्छा उदाहरण है।"

उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि भूटान में रुपे कार्ड के माध्यम से 11,000 का लेन-देन (ट्रांजेक्शन) हुआ और अगर कोविड-19 महामारी नहीं होती तो इसकी संख्या और अधिक हो सकती थी।

मोदी ने कहा, "मेरी भूटान की यात्रा के साथ रुपे कार्ड के पहले चरण की लॉन्चिंग से लेकर अब तक, भूटान में 11,000 सफल रुपे लेनदेन हुए हैं। आज चरण-2 के लॉन्च के साथ, हम भूटान का रुपे नेटवर्क के लिए पूर्णकालिक भागीदार के रूप में स्वागत करते हैं।"

भूटान के प्रधानमंत्री के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी यात्रा के दौरान पिछले साल रुपे कार्ड का पहला चरण शुरू किया था। भूटान के प्रधानमंत्री ने महामारी से निपटने में मोदी के प्रयासों की सराहना की।

भूटान के प्रधानमंत्री लोटे त्सरिंग ने कहा, "मुझे यकीन है कि भारत महामारी से पहले से कहीं अधिक मजबूत होकर बाहर निकलेगा। भारत जो टीके (वैक्सीन) विकसित करने में अग्रणी है, वह हम सभी के लिए आशा का स्रोत है।"

भूटान के प्रधानमंत्री ने तैयार होने पर वैक्सीन देने का वादा करने के लिए भारत को धन्यवाद दिया।

(आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com