कांग्रेस के शासन काल में भारत आंशिक रूप से एक मुस्लिम राष्ट्र था : सुधांशु त्रिवेदी

सुधांशु त्रिवेदी , भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता [Twitter Profile]
सुधांशु त्रिवेदी , भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता [Twitter Profile]

भाजपा (BJP)के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी (Sudhanshu Trivedi) ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए यह आरोप लगाया है कि कांग्रेस के शासन काल में भारत आंशिक रूप से एक मुस्लिम राष्ट्र था और उनकी सरकार के दौरान शरिया का प्रावधान भारतीय संविधान का हिस्सा हुआ करता था।

हिंदुत्व को लेकर राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान की नींदा करते हुए सुधांशु त्रिवेदी(Sudhanshu Trivedi) ने कहा की , मैं यह बात पूरी जिम्मेदारी से कहता हूं कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले कांग्रेस के दौरे-हुकुमत में भारत आंशिक रूप मुस्लिम राष्ट्र था। उस समय शरिया का प्रावधान संविधान का हिस्सा था। शरिया के प्रावधान को संविधान से ऊपर रखने के लिए सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को संसद में पलट दिया जाता था।

भाजपा प्रवक्ता ने यह आरोप लगाया कांग्रेस देश में योजनाबद्ध और व्यवस्थित तरीके से झूठी खबरों के आधार पर अराजकता और अस्थिरता उत्पन्न कर हिंदुओं के प्रति घृणा उत्पन्न करना चाहती है।

देश में हिंसा कराने का षड्यंत्र रचे जाने की बात बताते हुए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि बयान , किताब , सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार और हिंसा , इन सबका एक साथ होना यह साबित करता है कि सोच समझकर यह बड़ा अभियान चलाया जा रहा है और यह एक बड़े षड्यंत्र का हिस्सा है।

सुधांशु त्रिवेदी (Sudhanshu Trivedi) ने कहा कि राहुल गांधी को वेद-पुराण की बजाय अपनी पार्टी के नेताओं द्वारा लिखी गई किताब पढ़नी चाहिए। उन्हें अपने नाना जवाहर लाल नेहरू द्वारा लिखी किताब ' डिस्कवरी ऑफ इंडिया ' के पेज नंबर 74 पर जो हिन्दुओ के बारे में लिखा गया है, वह भी पढ़ना चाहिए।

उन्होंने कहा कि भारतीय समाज हनुमान जी की तरह अपनी शक्ति को स्मरण कर रहा है और अब भारत तेजी से बदल रहा है। यह बदलाव अयोध्या, केदारनाथ, काशी विश्वनाथ समेत हर जगह दिखाई दे रहा है।

सुधांशु ने महाराष्ट्र में हिंसा को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा। शिवसेना नेताओं के आरोपों पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी सरकार जिसे 3-3 रिमोट चला रहे हो , जो अंतर्विरोधों से भरी हो उसे डिरेल करने के लिए हमें कुछ करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि महाराष्ट्र वो राज्य है जहां के पूर्व गृह मंत्री गिरफ्तार हैं और पूर्व पुलिस कमिश्नर फरार हैं।

लिंचिंग को लेकर महबूबा मुफ्ती के ट्वीट पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए त्रिवेदी ने कहा कि वो बताएं कि 1990 में क्या हुआ था ? उस समय तो देश के गृह मंत्री उनके पिताजी ही थे। (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com