कोरोना के खिलाफ जंग में योगदान दे रही भारतीय सेना और असम राइफल्स

कोरोना के खिलाफ जंग में योगदान दे रही  भारतीय सेना और असम राइफल्स

 भारतीय सेना और असम राइफल्स के जवान देश और इसके नागरिकों को सुरक्षा कवच प्रदान करने के अलावा, कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में भी सक्रिय रूप से अपना योगदान दे रहे हैं। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल पी. खोंगसाई ने शनिवार को कहा कि देश में कोविड-19 के खिलाफ अपनी निरंतर लड़ाई में भारतीय सेना स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण करने में शामिल हो गई है।

उन्होंने कहा, अरुणाचल प्रदेश में भारतीय सेना के फॉरवर्ड फील्ड अस्पतालों में शनिवार को स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया गया। यह एक सामान्य राष्ट्रीय लक्ष्य की योजना बनाने और लागू करने में अरुणाचल प्रदेश की सरकार के साथ सेना के करीबी समन्वय का एक शानदार उदाहरण है।केंद्रीय पैरा-मिल्रिटी फोर्स (सीपीएमएफ) असम राइफल्स पिछले कई हफ्तों के दौरान मिजोरम और कई अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए स्वच्छता, फेस मास्क का उपयोग और कुछ प्रोटोकॉल बनाए रखने के लिए कई जागरूकता अभियान चला रही है।

कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई जारी । (आईएएनएस)

असम राइफल्स के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि ड्राइव का उद्देश्य प्रचलित कोविड-19 महामारी से प्रेरित स्थिति और टीकाकरण अभियान के बारे में स्थानीय आबादी में जागरूकता पैदा करना है। सुरक्षा बल की ओर से जारी बयान में कहा गया है, जागरूकता अभियान ने ग्रामीणों को कोविड-19 और टीकाकरण अभियान के बारे में शिक्षित करने का काम किया है। बयान में कहा गया है कि इन जागरूकता अभियानों के दौरान कुछ प्रोटोकॉल बनाए रखने को लेकर नागरिकों को जागरूक किया गया है, जिनमें सोशल डिस्टेंसिंग, हाथ धोना, मास्क ठीक से पहनना, सार्वजनिक सभाओं से बचना और इस स्थिति के खत्म होने तक घर पर रहने की आवश्यकता शामिल है। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com