भारतीय खिलाड़ियों में मेजर चैम्पियनशिप जीतने का दम : जीव मिल्खा सिंह

भारतीय खिलाड़ियों में मेजर चैम्पियनशिप जीतने का दम : जीव मिल्खा सिंह
भारतीय गोल्फ खिलाड़ी मिल्खा सिंह । (Wikimedia Commons )

भारतीय गोल्फ के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक जीव मिल्खा सिंह को देश के युवा खिलाड़ियों से काफी उम्मीदें है। उनका कहना है कि आज देश में कई प्रतिभाशाली युवा हैं जो मेजर चैम्पियनशिप तक जीत सकते हैं।

जीव इस समय अपने नाम पर आयोजित होने वाले पीजीटीआई चैम्पिनशिप टूर्नामेंट में शिरकत कर रहे हैं। वह पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जिनके नाम पर पीजीटीआई टूर्नामेंट है। जीव ने हाल ही में सेलीब्रिटी एन्गेजमेंट प्लेटफॉर्म गोनट्स के साथ करार किया है जो प्रशंसकों को अपने पसंदीदा स्टार के करीब लाने का और सीधे तौर पर उनसे रूबरू होने में मदद करती है।

जीव मिल्खा सिंह और उनके महान एथलीट पिता मिल्खा सिंह को गोनट्स की लीजेंड्स कैटेगरी में रखा गया है। यह दोनों यहां से जो भी कमाई करेंगे उसे डिवाइन टच फाउंडेशन में दान करेंगे। गोनट्स पर जीव और मिल्खा सिंह के अलावा 500 से अधिक सेलीब्रिटीज हैं, जो खास मौकों पर अपने फैन्स से जुड़ते हैं और उनके खास पलों को और खास बनाते हैं। इस पर जीव ने कहा, "गोनट्स पर आने के मेरा विचार अपने प्रशंसकों से जुड़ने और उन्हें प्रेरित करने का है। हम जिस मुश्किल समय से गुजर रहे हैं उसमें जरूरी है कि लोगों को सकारात्मक रखें।"

भारत के युवा खिलाड़ी में है दम

आईएएनएस से बातचीत में देश के प्रतिभाशाली युवा और उनके द्वारा बड़े खिताब जीतने की काबिलियत रखने के सवाल के जवाब में जीव ने कहा, "भारत में काफी युवा खिलाड़ी हैं जो विश्व स्तर पर अच्छा करने का दम रखते हैं। इनके और हमारे समय में अंतर यह है कि इनके पास इंटरनेट आ गया है। यह लोग पता कर सकते हैं कि इन्हें किस तरह से मैंटल ट्रेनिंग करनी है और क्या-क्या करना है। इनके पास सब कुछ है बस इन्हें मेहनत करनी चाहिए, अपने आप में विश्वास रखना चाहिए। विराज मडप्पा, शिव कपूर, गगनजीत भुल्लर, अनिर्बान लाहिड़ी, एसएसपी चौरिसया, और आदिल बेदी, सुमित चौरसिया जैसे युवा हैं जो विश्व स्तर पर अच्छा कर सकते हैं। इन खिलाड़ियों में से कोई भी मेजर चैम्पियशिप जीत सकता है।"

जीव ने सिर्फ युवाओं को ही लक्ष्य बनाने और बड़े पैमाने तय करने की सलाह नहीं दी। वह खुद भी इसे लागू कर रहे हैं। अगले साल 50 साल के होने वाले जीव सीनियर टूर खेलने का लक्ष्य बना रहे हैं।

लक्ष्य अब सीनियर टूर खेलना

जीव ने कहा, "मेरा लक्ष्य अब सीनियर टूर खेलना है। मैंने जापान और यूरोप के लिए क्वालीफाई भी कर लिया है। मैं 2022 से इसकी शुरुआत करूंगा। मैं अगले साल नवंबर में अमेरिका में होने वाले चैम्पियंस टूर में क्वालीफाई करने की कोशिश करूंगा, यह पीजीए टूर है। अगर मैं इसके लिए क्वालीफाई कर लेता हूं तो मैं 2022 में इसमें खेलूंगा। मैं अगले साल 50 साल को हो जाऊंगा। मैं फिट रहना चाहता हूं और सीनियर टूर खेलना चाहता हूं। मैं सात-आठ साल सीनियर टूर पर खेलना चाहता हूं फिर अपने रिटायरमेंट का लुत्फ लूंगा और हो सकता है कि अकदामी शुरू करूं और बच्चों को ट्रेनिंग दूं।"

भारत में गोल्फ टूर्नामेंट धीरे-धीरे शुरू हो रहे हैं। जीव ने कहा कि उनके नाम पर जो टूर्नामेंट खेला जा रहा है उससे खेल को शुरू करने में सकरात्मकता मिलेगी।

जीव ने कहा, "गोल्फ शुरू हो गई और इसमें सोशल डिस्टेंसिंग आसानी से बनाए रखी जा सकती है। भारतीय गोल्फ को दुनिया देखेगी। बाकी स्पांसर देखेंगे कि गोल्फ शुरू हो गई है हमें भी करना चाहिए। खेल ऐसी चीज है जो आपको स्वास्थ रखती है और अगर आप स्वास्थ हैं तो किसी भी बीमारी से लड़ सकते हैं। कोविड ने गोल्फ को पूरे विश्व में प्रभावित किया है और भारत को भी। भारत में पीजीटीआई ने तीन सप्ताह पहले टूर्नामेंट की शुरुआत कर काफी अच्छा किया था। इस समय मेरे नाम पर टूर्नामेंट है वो चल रहा है। मेरे टूर्नामेंट में भारतीय गोल्फ के बड़े नाम खेल रहे हैं। गोल्फ ने संघर्ष किया है क्योंकि हम मुश्किल समय से गुजर रहे हैं। यह बहुत जरूरी है कि हम एक अच्छा संदेश दें।" (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com