कालाहांडी अब गरीबी का परीक्षण केंद्र नहीं, विकास का मॉडल है : मुख्यमंत्री पटनायक

कालाहांडी अब गरीबी का परीक्षण केंद्र नहीं, विकास का मॉडल है : मुख्यमंत्री पटनायक

ओडिशा में कालाहांडी गरीबी का परीक्षण केंद्र नहीं है, बल्कि आज यह देश में विकास का मॉडल बन गया है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गुरुवार को यह बात कही। पटनायक ने कोविड-19 महामारी के बाद अपनी पहली जनसभा को संबोधित करते हुए जिले में 2,085 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने कहा, "कुछ लोग कालाहांडी को गरीबी की प्रयोगशाला बनाना चाहते थे। जिले की छवि 2000 के बाद बदल गई है। आज, कालाहांडी पूरे देश के लिए विकास का एक मॉडल है।" मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि भूख का भूगोल कहा जाने वाला कालाहांडी अब अन्न से परिपूर्ण है। उन्होंने कहा कि जिला अब भूख की भूमि नहीं है, बल्कि यह चावल के कटोरे में बदल गया है।

उन्होंने कहा कि जिला अब किसानों की मेहनत और प्रतिबद्धता के कारण चावल उत्पादन में राज्य में दूसरा स्थान रखता है। यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने 1,064 करोड़ रुपये की 54 परियोजनाओं का उद्घाटन किया और 1,020 करोड़ रुपये की 52 परियोजनाओं की नींव रखी।

मुख्यमंत्री ने 987 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित ऊपरी इंद्रावती लिफ्ट नहर प्रणाली का उद्घाटन किया। मेगा सिंचाई परियोजना से जिले के कोकसरा, धर्मगढ़ और जयपटना ब्लॉक में लगभग 25,275 हेक्टेयर भूमि को पानी मिलेगा। अन्य परियोजनाओं में सिंचाई, पानी की आपूर्ति, सड़क, बुनियादी ढांचे का विकास और आगे के विकास के लिए बिजली शामिल हैं। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.