लक्षद्वीप ने मालदीव, मॉरीशस की तर्ज पर बनाई क्रूज पर्यटन की योजना

लक्षद्वीप ने मालदीव, मॉरीशस की तर्ज पर बनाई क्रूज पर्यटन की योजना

 लक्षद्वीप में रोजगार के अवसर पैदा करने और विदेशी मुद्रा लाने के उद्देश्य से केंद्र शासित प्रदेश सरकार मालदीव और मॉरीशस में पर्यटकों के लिए पहले से तैयार मॉडल की तर्ज पर क्रूज पर्यटन के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया गया है।

अपने प्रस्ताव में, केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन ने गृह मंत्रालय (एमएचए) को द्वीपों में एक समर्पित पर्यटक जहाज की संरचना को लेकर अपनी योजना के बारे में सूचित किया है।

लक्षद्वीप प्रशासन ने क्रूज पर्यटन के प्रस्ताव के साथ-साथ यूटी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए एक मसौदा नीति भी तैयार की है, जो उन छुट्टियों को संदर्भित करती है, जो पूरी तरह से या आंशिक रूप से एक क्रूज जहाज पर आधारित होती हैं।

क्र्रूज पर्यटन पर्यटकों को एक बहु-केंद्र अवकाश का अनुभव करने में सक्षम बनाता है, जिससे वे क्रूज जहाजों पर अपनी यात्रा के दौरान विभिन्न स्थलों पर समय बिताते हैं। इस तरह के पर्यटन में छोटी नौकाओं से लेकर बड़े जहाज तक शामिल होते हैं। इन्हें समुद्र से लेकर नदियों पर भी तैनात किया जाएगा।

क्रूज पर्यटन को यात्रा के एक शानदार रूप के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जिसमें एक निर्धारित और विशिष्ट यात्रा कार्यक्रम के साथ, कम से कम 48 घंटों के क्रूज जहाज पर शानदार छुट्टी बिताई जा सकती है। यह क्रूज जहाज कई बंदरगाहों या शहरों से होकर भी गुजरते हैं। 

 लक्षद्वीप  द्वीप । ( Wikimedia commons )

अंग्रेजी में पढ़ें: The Oldest Functional Temple Of The World- Mundeshwari Temple

गृह मंत्रालय की एक्शन टेकन रिपोर्ट को आईएएनएस द्वारा भी एक्सेस किया गया है, जिसमें कहा गया है कि लक्षद्वीप प्रशासन द्वीप समूह में क्रूज लाइन पर्यटन को अत्यधिक महत्व देता है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि द्वीपों में क्रूज पर्यटन को विकसित करने के लिए, लक्षद्वीप प्रशासन ने एक समर्पित पर्यटक जहाज की सरंचना के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया है। लक्षद्वीप प्रशासन ने यूटी में पर्यटन के लिए एक मसौदा नीति भी तैयार की है।

दस्तावेजों को गृह मामलों की स्थायी समिति के साथ साझा किया गया है, जिसने पहले मालदीव और मॉरीशस द्वारा अपनाए गए विकास मॉडल पर लक्षद्वीप में पर्यटन को विकसित करने के लिए मंत्रालय की सिफारिश की थी। इन दोनों देशों में पर्यटन पर ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ क्रूज-आधारित पर्यटन काफी लोगों को लुभाता है, जिसका फायदा लक्षद्वीप भी उठा सकता है।

इसके अलावा मंत्रालय ने कहा है कि लक्षद्वीप किल्तन, चेतलत और बित्रा द्वीपों में पर्यावरण के अनुकूल (ईको-फ्रेंडली) टेंट रिसॉर्ट विकसित करने की योजना भी बना रहा है।
(आईएएनएस )

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com