सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने दुष्प्रचार फैलाने वाले 16 यूट्यूब न्यूज़ चैनलों को किया ब्लॉक

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने दुष्प्रचार फैलाने वाले 16 यूट्यूब न्यूज़ चैनलों को किया ब्लॉक
16 यूट्यूब आधारित समाचार चैनल और एक फेसबुक अकाउंट को ब्लॉक करने के निर्देश जारी किए हैं। (IANS)

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) ने देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और बाहरी देशों के साथ संबंधों से जुड़ी गलत सूचना फैलाने के लिए 68 करोड़ से अधिक दर्शकों की संख्या वाले छह पाकिस्तान और 10 भारत आधारित चैनलों सहित 16 यूट्यूब न्यूज चैनलों (YouTube News Channels) को ब्लॉक कर दिया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने आईटी नियमावली, 2021 (IT Rules, 2021) के तहत आपातकालीन शक्तियों का उपयोग करते हुए दो अलग-अलग आदेशों के तहत 16 यूट्यूब आधारित समाचार चैनल और एक फेसबुक अकाउंट को ब्लॉक करने के निर्देश जारी किए हैं।

विदेश संबंधों और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने वाले 16 यूट्यूब न्यूज चैनलों को ब्लॉक किया गया [Twitter]
विदेश संबंधों और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने वाले 16 यूट्यूब न्यूज चैनलों को ब्लॉक किया गया [Twitter]

मंत्रालय ने आगे कहा कि भारत के कुछ यूट्यूब चैनलों द्वारा प्रकाशित सामग्री (कंटेंट) में एक समुदाय को आतंकवादी के रूप में संदर्भित किया गया है और विभिन्न धार्मिक समुदायों के सदस्यों के बीच घृणा को उकसाया गया है। इस तरह की सामग्री में सांप्रदायिक वैमनस्य पैदा करने और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने की मंशा पाई गई।

भारत के कई यूट्यूब चैनल समाज के विभिन्न वर्गों में दहशत पैदा करने की मंशा से असत्यापित समाचार और वीडियो प्रकाशित करते हुए पाए गए। कोविड-19 के कारण पूरे भारत में लॉकडाउन की घोषणा से संबंधित झूठे दावे करके प्रवासी श्रमिकों को जोखिम में डालना और कुछ धार्मिक समुदायों के लिए खतरों का आरोप लगाते हुए मनगढ़ंत दावे आदि इसके उदाहरण हैं। ऐसी सामग्री को देश में सार्वजनिक व्यवस्था के लिए हानिकारक माना गया है।

मंत्रालय ने कहा, "पाकिस्तान स्थित यूट्यूब चैनलों को भारतीय सेना (Indian Army), जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) और यूक्रेन (Ukraine) की स्थिति के संदर्भ में भारत के विदेशी संबंधों जैसे विभिन्न विषयों पर भारत के बारे में फर्जी समाचार पोस्ट करने के लिए सुनियोजित तरीके का इस्तेमाल करते हुए पाया गया। इन चैनलों की सामग्री को राष्ट्रीय सुरक्षा, भारत की संप्रभुता तथा अखंडता एवं विदेशी राज्यों के साथ भारत के मैत्रीपूर्ण संबंधों के दृष्टिकोण से पूरी तरह से गलत और संवेदनशील माना गया।"

इससे पहले 23 अप्रैल को मंत्रालय ने निजी टीवी समाचार चैनलों (TV News Channels) को झूठे दावे करने और निंदनीय सुर्खियों का इस्तेमाल करने के विरुद्ध चेतावनी भी दी थी। मंत्रालय ने कहा, "भारत सरकार प्रिंट, टेलीविज़न और ऑनलाइन मीडिया में भारत में एक सुरक्षित और संरक्षित सूचना का वातावरण सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।"

आईएएनएस (PS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com