मोदी ने यूक्रेन में मारे गए भारतीय छात्र नवीन के पिता से की फोन पर बात

मोदी ने यूक्रेन में मारे गए भारतीय छात्र नवीन के पिता से की फोन पर बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(PIB)

यूक्रेन और रूस(Russia vs Ukraine) के बीच जारी युद्ध से एक बुरी खबर सामने आई थी कि खारकीव में गोलाबारी के दौरान एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है। भारतीय विदेश मंत्रालय(IMA) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। इस घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने यूक्रेन के खार्व में गोलीबारी में मारे गए भारतीय छात्र नवीन के पिता से बात की है।

आईएएनएस(IANS) को मिली जानकारी के अनुसार रूसी हमले में मंगलवार की सुबह मारे गए नवीन के पिता से फोन पर बात कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त की है। रूसी हमले में मारे गए नवीन कर्नाटक के रहने वाले थे। भारतीय विदेश मंत्रालय(IMA) के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर रूसी हमले में भारतीय छात्र की मृत्यु की पुष्टि करते हुए कहा कि मंत्रालय परिवार के साथ संपर्क में हैं। उन्होंने यह जानकारी भी दी कि भारतीय छात्रों और नागरिकों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए विदेश मंत्रालय रूस और यूक्रेन के संपर्क में है।

आपको बता दें कि, यूक्रेन(Ukraine) पर रूसी सेना के हमले के बीच यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सकुशल स्वदेश वापस लाने के लिए भारत सरकार 'ऑपरेशन गंगा ' चला रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) के निर्देश के बाद भारतीय वायु सेना के विमान भी इस अभियान में जुट गए हैं। भारत सरकार ने इस अभियान में तेजी लाने के लिए अपने 4 मंत्रियों को भी यूक्रेन के अलग-अलग पड़ोसी देशों में भेजा है।

कब तक जारी रहेगा यह युद्ध?

रूस(Russia) यूक्रेन में अपना विशेष सैन्य अभियान तब तक जारी रखेगा, जब तक कि वह पश्चिमी खतरों से रूस की रक्षा करने के मुख्य लक्ष्य को हासिल नहीं कर लेता। रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने मंगलवार को यह बात कही। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों देशों ने सोमवार को बेलारूस में अपने पहले दौर की वार्ता को बिना किसी स्पष्ट सफलता के संपन्न किया।

जब वार्ता चल रही थी, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन(Vladimir Putin) ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों(Emmanuel Macron) के साथ टेलीफोन के माध्यम से बातचीत की थी, जिसमें दोहराया गया कि एक समझौता तभी संभव होगा जब रूस की सुरक्षा चिंताओं को ध्यान में रखा जाएगा। पुतिन ने कहा कि क्रीमिया पर रूस की संप्रभुता के साथ-साथ यूक्रेन के विसैन्यीकरण के कार्यों को हल करने के लिए देश की प्रतिबद्धता और यूक्रेन की तटस्थ स्थिति के मुद्दे को पहचानना महत्वपूर्ण है।

lnput : आईएएनएस ; Edited by Lakshya Gupta

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.