शिक्षक ही कर सकते हैं स्टूडेंट्स के करियर का मार्गदर्शन : सावंत

शिक्षक ही कर सकते हैं स्टूडेंट्स के करियर का मार्गदर्शन : सावंत

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि माता-पिता नहीं, बल्कि शिक्षक ही विद्यार्थियों के करियर एवं लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए मार्गदर्शन कर सकते हैं। शनिवार को अपने विधानसभा क्षेत्र सैंक्विलिम में मेधावी छात्रों को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक समारोह में उन्होंने ये बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि केवल एक शिक्षक ही आपको भविष्य के लिए तैयार कर सकता है, न कि आपके माता-पिता। सैंक्विलिम के प्रोग्रेस हाई स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों के केवल 10 प्रतिशत पैरंट्स ही करियर के बारे में कुछ जानते हैं। 90 प्रतिशत छात्रों के माता-पिता को करियर के बारे में कोई जानकारी नहीं है।
 

मुख्यमंत्री ने शिक्षकों से अपने करियर मार्गदर्शन को नियमित रूप से उन्नत करने का भी आग्रह किया, ताकि उनके छात्रों को आगे आने वाले अवसरों से अवगत किया जा सके।

वर्ष 2022 के राज्य विधानसभा चुनाव से पहले स्थानीय युवाओं द्वारा सरकारी नौकरियों की बढ़ती मांग के मद्देनजर सावंत ने कहा कि शिक्षकों को हर साल करियर (मार्गदर्शन के अवसरों) को लेकर स्वयं को अपडेट रखना चाहिए, तभी वे छात्रों की मदद कर पाएंगे। करियर का मतलब केवल बीए ( BA ), बीकॉम (B.COM) , बीएससी ( BSC ), साइंस आर्ट्स और कॉमर्स  नहीं है। इसके अलावा भी बहुत कुछ है। युवाओं को केवल सरकारी नौकरियों को ही करियर के रूप में नहीं देखना चाहिए। उन्हें इससे आगे देखना चाहिए।
( AK आईएएनएस )
 

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com