Karnataka में अजान के दौरान मंदिरों में राम भजन और भगवान शिव की प्रार्थना प्रसारित करने की योजना

प्रतिदिन सुबह पांच बजे मंदिरों में राम भजन और भगवान शिव की पूजा-अर्चना होगी। (Wikimedia Commons)
प्रतिदिन सुबह पांच बजे मंदिरों में राम भजन और भगवान शिव की पूजा-अर्चना होगी। (Wikimedia Commons)

कर्नाटक(Karnataka) में स्थिति और गंभीर होती जा रही है क्योंकि हिंदू संगठन मस्जिदों में अजान के समय ही हिंदू प्रार्थनाओं को प्रसारित करने की योजना बना रहे हैं। हिंदू कार्यकर्ता भरत शेट्टी ने सोमवार को कहा कि अजान के समय सुबह पांच बजे बेंगलुरु के येलहंका के अंजनेया मंदिर में अभियान शुरू होगा। उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में अभियान की योजना है।

यह एक संवेदनशील मुद्दा है, खासकर जब रमजान अभी शुरू हुआ है, पुलिस सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कर रही है।

हिंदू संगठन 'ओम नम: शिवाय', 'जय श्री राम' के नारे और अन्य भक्ति प्रार्थनाओं को ठीक मस्जिदों में अजान के समय प्रसारित करने की योजना बना रहे हैं।

श्री राम सेना ने कहा है कि सुबह पांच बजे लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए अधिकारियों से अनुरोध किया था, लेकिन तहसीलदार और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की।

श्री राम सेना के संस्थापक प्रमोद मुतालिक ने कहा, "हम समस्या के समाधान के रूप में जिला आयुक्तों को शिकायत प्रस्तुत करेंगे। सरकार को मुस्लिम समुदाय को सर्वोच्च न्यायालय के दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए कहना चाहिए। हम उनकी प्रार्थना का विरोध नहीं कर रहे हैं। लेकिन, हम लाउडस्पीकर के उपयोग का विरोध कर रहे हैं जिसके कारण लाखों लोगों को असुविधा हो रही है।"

उन्होंने कहा कि प्रतिदिन सुबह पांच बजे मंदिरों में राम भजन और भगवान शिव की पूजा-अर्चना होगी।

–आईएएनएस(DS)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com