यूक्रेन के साथ बातचीत जारी रहेंगे पुतिन

यूक्रेन के साथ बातचीत जारी रहेंगे पुतिन
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन । (Wikimedia Commons )

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि उनका देश यूक्रेन के साथ बातचीत जारी रखना चाहता है और शांति चाहता है, बशर्ते कि कीव पर युद्ध के दौरान मास्को की सुरक्षा संबंधी सभी मांगें पूरी हों। राष्ट्रपति ने यह भी आशा व्यक्त की कि रूस और यूक्रेन के बीच तीसरे दौर की वार्ता के दौरान कीव 'उचित और रचनात्मक रुख' अपनाएगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पुतिन ने शुक्रवार को जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ एक फोन कॉल के दौरान यह टिप्पणी की, क्योंकि यूक्रेन पर रूसी हमला नौवें दिन भी जारी रहा। यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार मायखाइलो पोडोलीक के अनुसार, दोनों पक्षों के बीच तीसरे दौर की शांति वार्ता शनिवार या रविवार को हो सकती है।

पोडोलीक ने कहा कि रूस और यूक्रेन के कड़े रुख के बावजूद बातचीत होगी, जिससे वार्ता मुश्किल हो सकती है। पोडोलीक ने कहा कि यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ऐसी कोई रियायत नहीं देंगे जो यूक्रेन के प्रतिरोध को 'अपमानित' कर सके। इस बीच, फस्र्ट डिप्टी चेयरमैन ऑलेक्जेंडर कोर्निएन्को ने कहा, यूक्रेनी संसद ने देश में शांति सेना की शुरूआत करने का आह्वान किया है। संसद ने यूक्रेन के क्षेत्र में 'नो-फ्लाई जोन' को तत्काल लागू करने का भी आह्वान किया।

आपको बता दें, शुक्रवार को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ एक टेलीफोन पर बातचीत के दौरान, तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैय्यप एर्दोगन ने कहा कि अंकारा यूक्रेन में तत्काल युद्धविराम के लिए प्रयास करना जारी रखेगा। साथ ही शुक्रवार को फिनलैंड चैंबर ऑफ कॉमर्स ने एक सर्वेक्षण प्रकाशित किया जिसमें कहा गया कि रूस के खिलाफ कुछ पश्चिमी देशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंध फिनिश निर्यात कंपनियों के 90 प्रतिशत तक प्रभावित होंगे। सर्वेक्षण में प्रतिक्रिया देने वाली एक चौथाई कंपनियों ने कहा कि उनके व्यवसाय पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

lnput : आईएएनएस ; Edited by Lakshya Gupta

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Related Stories

No stories found.