सेरोपोजिटीविटी दर, एंटी-स्पाइक एंटीबॉडी टाइट्रे कोविशील्ड में कोवैक्सीन से है ज्यादा : अध्ययन

सेरोपोजिटीविटी दर, एंटी-स्पाइक एंटीबॉडी टाइट्रे कोविशील्ड में कोवैक्सीन से है ज्यादा : अध्ययन
कोवैक्सीन को तुलना में कोशील्ड हल्का अधिक कारगर है।(Wikimedia Commons)

एक नए अध्ययन में पाया गया है कि दोनों टीके, कोविशील्ड और कोवैक्सीन ने दो खुराक के बाद अच्छी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया हासिल की है। हालांकि, कोविशील्ड में सेरोपॉजिटीविटी दर और औसत एंटी-स्पाइक एंटीबॉडी टाइट्रे कोवैक्सीन की तुलना में काफी अधिक है। मेडरेक्सिव में प्रकाशित अध्ययन के परिणाम का शीर्षक है, "भारत में स्वास्थ्य देखभालकर्मियों के बीच कोविशील्डटीएम और कोवैक्सीनटीएम की दूसरी खुराक के बाद एंटीबॉडी प्रतिक्रिया : क्रॉस-सेक्शनल कोरोनावायरस वैक्सीन-प्रेरित एंटीबॉडी ट्रिटे (कोवैट) अध्ययन के अंतिम परिणाम।"

परिणामों में पाया गया कि 515 एचसीडब्ल्यू (305 पुरुष, 210 महिला) में से 95.0 प्रतिशत ने दोनों टीकों की दो खुराक के बाद सेरोपोसिटिविटी दिखाई।

425 कोविशील्ड और 90 कोवैक्सीन प्राप्तकर्ताओं में से क्रमश: 98.1 प्रतिशत और 80.0 प्रतिशत ने सेरोपोजिटीविटी दिखाई।

हालांकि, कोविशील्ड बनाम कोवैक्सीन प्राप्तकर्ता (98.1 बनाम 80.0 प्रतिशत; 127.0 बनाम 53 एयू/एमएल, दोनों पी) में एंटी-स्पाइक एंटीबॉडी में सेरोपोसिटिविटी दर और माध्य (आईक्यूआर) दोनों वृद्धि काफी अधिक थी।

परिणामों में पाया गया कि 515 एचसीडब्ल्यू (305 पुरुष, 210 महिला) में से 95.0 प्रतिशत ने दोनों टीकों की दो खुराक के बाद सेरोपोजिटीविटी दिखाई।(आईएएनएस-SHM)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com