AMU के प्रोफेसर व सभी षड्यंत्रकारियों पर कठोर कार्रवाई जरूरी: VHP

AMU के प्रोफेसर व सभी षड्यंत्रकारियों पर कठोर कार्रवाई जरूरी: VHP
धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए डॉ. जितेंद्र कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।(Wikimedia Commons)

विश्व हिंदू परिषद(VHP) ने मांग की है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी(AMU) के प्रोफेसर जितेंद्र सिंह के खिलाफ तुरंत और कठोर कार्रवाई की जाए। विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि हिंदू देवी देवताओं को बलात्कारी बताने वाले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर व उसके सभी षड्यंत्रकारियों पर कठोरतम कार्रवाई जरूरी है। इन जहरीले फनों को अविलम्ब कुचलना जरूरी है। वहीं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय हिंदू कथाओं में बलात्कार के जिक्र पर कड़ी निंदा करता है और छात्रों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए डॉ. जितेंद्र कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

हालांकि विश्व हिंदू परिषद विश्वविद्यालय की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। वीएचपी के प्रवक्ता का कहना है कि प्रोफेसर जितेंद्र सिंह का अस्थायी निलम्बन कर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी अपने कुकर्मों पर पर्दा डाल रही है। विश्व हिंदू परिषद का कहना है कि विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर(VC) का निलम्बन होना चाहिए। वहीं आरोपी प्रोफेसर की अबिलम्ब गिरफ्तारी बहुत जरूरी है। हिंदुओं को भी न्याय चाहिए।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने बुधवार को प्रोफेसर जितेंद्र सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया। प्रोफेसर ने हिंदू पौराणिक कथाओं में बलात्कार की घटनाओं के बारे में कथित तौर पर एक स्लाइड में हिंदू देवताओं का उल्लेख किया था।

एएमयू ने विश्व विद्यालय में कार्यरत एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. जितेंद्र कुमार को 24 घंटे के अंदर मामले पर अपना जवाब देने का निर्देश दिया था। हालांकि नोटिस मिलने के कुछ ही देर बाद जितेंद्र सिंह ने बिना शर्त माफी मांगी है।

विश्वविद्यालय प्रशासन का इस पूरे प्रकरण पर कहना है कि एएमयू ने मामले की जांच के लिए दो सदस्यीय जांच समिति का भी गठन किया है और यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने की सिफारिश की है कि भविष्य में यह घटना दोबारा न हो।

–आईएएनएस(DS)

Related Stories

No stories found.