टेक्नो ने कोविड के खिलाफ ‘जीतेगा इंडिया फिरसे’ सामाजिक पहल शुरू की

यह पहल उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के कई गांवों में रहने वाले 30,000 से अधिक लोगों को कोविड-19 की रोकथाम, उपचार और टीकाकरण के बारे में जागरूकता का प्रसार करने में मदद करेगी। (Twitter)
यह पहल उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के कई गांवों में रहने वाले 30,000 से अधिक लोगों को कोविड-19 की रोकथाम, उपचार और टीकाकरण के बारे में जागरूकता का प्रसार करने में मदद करेगी। (Twitter)

वंचित समुदायों को जागरूक करने और उनका समर्थन करने के उद्देश्य से ग्लोबल प्रीमियम ब्रांड टेक्नो (Global Premium Brand Techno) ने शुक्रवार को अपनी सामाजिक पहल 'जीतेगा इंडिया फिरसे' की घोषणा की, जिसके तहत कंपनी कोविड-19 (Covid -19) के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करने के लिए कई आवश्यक और प्रासंगिक कदम उठाएगी। यह पहल उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के कई गांवों में रहने वाले 30,000 से अधिक लोगों को कोविड-19 की रोकथाम, उपचार और टीकाकरण के बारे में जागरूकता का प्रसार करने में मदद करेगी।

ट्रांससियन इंडिया के सीईओ अरिजीत तालापात्रा ने एक बयान में कहा, "यह कठिन समय है और हमारे लिए यह बेहद जरूरी है कि हम अपनी आबादी के सबसे ज्यादा प्रभावित तबके की देखभाल के लिए मदद का हर संभव प्रयास करें।"

उन्होंने आगे कहा, "भारत की आधी से अधिक आबादी गांवों में रहती है, लेकिन जानकारी और स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं की कमी के कारण उन पर संक्रमण का जोखिम अधिक रहता है। टेक्नो राष्ट्र शक्ति की भावना से लड़ने और जीतने की इच्छा में विश्वास करता है।"

इस पहल के हिस्से के रूप में टेक्नो इन गांवों के लोगों को उनके परिवारों को कोविड से सुरक्षित रखने और उन्हें टीकाकरण के प्रति जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य सूचना कार्यशालाओं का आयोजन कर रहा है।

कंपनी उन्हें आपातकालीन प्रोटोकॉल के लिए सभी संबंधित सरकारी हेल्पलाइन नंबरों और मार्गदर्शन के साथ मास्क, दस्ताने, सैनिटाइजर, हैंडवाश और एक कोविड-19 देखभाल पुस्तिका जैसी आवश्यक स्वास्थ्य किट भी प्रदान करेगी।

कंपनी कोविड-19 (Covid -19) के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करने के लिए कई आवश्यक और प्रासंगिक कदम उठाएगी। (Pixabay)

वह आगे कहते हैं, "टेक्नो के 'जीतेगा इंडिया फिरसे' (Jeetega India Phirse) अभियान के माध्यम से ब्रांड यूपी के इन गांवों में रहने वाले 30,000 से अधिक लोगों तक पहुंचने के लिए प्रतिबद्ध है। हमारे एनजीओ पार्टनर सर्वहिते के साथ हम घर-घर की सेवाएं और चिकित्सकों के साथ विभिन्न कार्यशालाओं का आयोजन कर रहे हैं, ताकि उन्हें महामारी की रोकथाम और स्वास्थ्य देखभाल व्यवस्था के बारे में शिक्षित किया जा सके।"

अपनी बात को जारी रखते हुए तलापात्रा ने आगे कहा, "यह पहल कोविड-19 संबंधित महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में बहुत आवश्यक जागरूकता को बढ़ावा देगी और साथ ही उन लोगों को संसाधन प्रदान करेगी, जिन्हें इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है। हम यह सुनिश्चित करने के लिए अपने हिस्से का काम करना जारी रखेंगे और अधिक से अधिक लोगों का समर्थन करेंगे कि लोगों के पास खुद को और अपने प्रियजनों को स्वस्थ रखने की सही जानकारी और साधन हो, ताकि भारत को फिर से जीत दिलाई जा सके।"

कंपनी के आंतरिक और बाहरी हितधारकों का समर्थन करने के अपने प्रयासों के हिस्से के रूप में ट्रांससियन ने स्वास्थ्य और सुरक्षा कार्यक्रम के लिए कई हस्तक्षेपों की भी घोषणा की, जैसे कि कर्मचारियों और उनके परिवारों को कोविड स्वास्थ्य देखभाल किट, कोविड टीकाकरण शिविर, 3,500 फ्रंट लाइन सदस्यों के लिए वार्षिक कोविड बीमा कवरेज नीति और कोविड के उपचार के लिए 24 घंटे ऑनलाइन डॉक्टर परामर्श और अन्य चिकित्सा सहायता का वितरण।

इस साल की शुरूआत में कंपनी ने पैन इंडिया में 50,000 से अधिक आउटलेट्स के सबसे बड़े रिटेल नेटवर्क के साथ अपनी अनूठी डोरस्टेप डिलीवरी पहल को फिर से शुरू किया है, जो उपभोक्ताओं को अपने घरों के आराम और सुरक्षा से टेक्नो स्मार्टफोन खरीदने में सक्षम बनाता है। टेक्नो ने उन स्मार्टफोन्स पर वारंटी अवधि भी बढ़ा दी, जिनकी वारंटी 15 अप्रैल से 15 जून, 2021 के बीच समाप्त होनी थी। (आईएएनएस-SM)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com