बर्फ के पानी से बुझाते थे प्यास, अब जा कर मिली राहत

बर्फ के पानी से बुझाते थे प्यास, अब जा कर मिली राहत
मध्य चीन के हुपेइ प्रांत की पाओ खांग काउंटी में 70 प्रतिशत से अधिक क्षेत्र कास्र्त लैंडफॉर्म है। (Pixabay)

वर्ष 2017 में पाओ खांग काउंटी के मा ल्यांग कस्बे के चाओ च्या शान गांव ने, कई कठिनाइयों को दूर कर पहला कुआं खुदवाया, जिस से आकाशीय पानी पर निर्भर रहने का इतिहास समाप्त हुआ। पहले स्थानीय लोग पीढ़ी दर पीढ़ी वर्षा और बर्फ का पानी पीते थे।

अब पहाड़ी गांव के लोग व्यवसाय के विकास से गरीबी के चंगुल से निकल कर सुखमय जीवन बिताने लगे हैं। चांग चीथाओ, चाओ च्या शान गांववासी हैं।

मेहमान ने चाय में मिट्टी देखी तो दंग रह गए

जब मेहमान आते हैं, वह अकसर चाय पिलाते हैं। पर चार साल के पहले जब पाओ खांग कांउटी के प्रमुख चांग शीवेइ उन के घर पहुंचे और चाय पीने लगे, तो उन्होंने पाया कि चाय में मिट्टी और कीट भी थे। उस समय की बात याद करते हुए चांग छीथाओ ने बताया, प्रमुख ने हम से पूछा कि क्या सब पानी ऐसा है। हम ने हामी भरी। क्योंकि हम सबकुछ के लिए आकाश पर निर्भर रहते थे। जब भारी वर्षा होती थी, तब हम अधिक पानी एकत्र कर लेते थे और जब वर्षा नहीं होती थी, तो हमारे लिए पीना का पानी भी मुश्किल हो जाता था।

स्थानीय स्थिति का पता लगाने के बाद काउंटी प्रमुख चांग चीवेइ ने पेयजल की समस्या का समाधान करने का फैसला किया। लेकिन चाओ च्या शान में पानी निकालना आसान नहीं था। पहले दो बार कुएं की खुदाई विफल हो गयी। अंत में काउंटी सरकार ने प्रांतीय भू-सर्वेक्षण संस्थान के विशेषज्ञों को निमंत्रण दिया। विशेषज्ञों ने लैंडफार्म की पूरी जांच कर कुआं खोदने का स्थल तय किया।

1 अप्रैल 2017 की सुबह 9 बजे कुएं का ड्रिलिंग कार्य शुरू हुआ। दोपहर के बाद 1 बजे तक जब ड्रिलिंग जमीन के नीचे 483 मीटर तक पहुंची, तो स्वच्छ पानी कल-कल करते हुए बाहर निकला। उस समय के ²श्य की चर्चा में चांग छीथाओ ने बताया, पानी निकलते हुए देखकर हम अत्यंत खुश हुए। 60 या 70 वर्ष के वृद्ध भी नाचने लगे। हम ने पटाखे छोड़कर खुशियां मनायीं।

उल्लेखनीय बात है कि उस कुएं से रोज 100 से अधिक घनमीटर पानी निकाला जा सकता है, जो 800 लोगों के पेयजल की मांग पूरी कर सकता है।

कुछ समय के बाद चाओ च्या शान के हर घर में नल जल उपलब्ध कराया गया। गांववासी वांग शू छांग ने बताया कि पानी होने के बाद सुअर पालने में मौजूद समस्या भी दूर हो गयी। उन्होंने हमारे संवाददाता के प्रश्न के उत्तर में बताया कि अब हम सुअरों को भी पाइप पानी से पिलाते हैं। दो साल के अंदर वांग शू छांग के घर में सुअरों की संख्या 2 से बढ़कर 60 से अधिक हो गयी है। चारा बेचने के साथ गतवर्ष उन की आय कई लाख युवान (दसियों लाख रुपये) से अधिक थी।

पाओ खांग काउंटी ने जल्दी से चाओ च्या शान में गहरे कुएं खुदवाने के अनुभव का प्रचार प्रसार किया और लगातार पांच कस्बों में सफलता से 10 गहरी कुएं खुदवायीं। इस तरह काउंटी में पानी के गंभीर अभाव का सामना करने वाले 33 हजार लोगों को पर्याप्त स्वच्छ और मीठा पानी मिल गया। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com