घुसपैठ मामले में अपनों से ही घिरती दिख रही है तृणमूल सरकार

घुसपैठ मामले में अपनों से ही घिरती दिख रही है तृणमूल सरकार
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Wikimedia Commons)

पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशियों की अवैध घुसपैठ पर फिर से राजनीति गरमा गई है। सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक की ओर से अवैध घुसपैठ पर सवाल उठाए जाने पर भाजपा ने मुद्दा बना लिया है। पश्चिम बंगाल प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि अब ममता बनर्जी के घर के अंदर से ही घुसपैठ को लेकर सवाल उठने लगे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, "घर से ही सवाल। पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशी घुसपैठियों के प्रति ममता बनर्जी के नरम रुख पर स्थानीय जनता के दवाब के कारण अब टीएमसी में ही उंगलियां उठने लगी हैं। विधायक श्यामल मंडल ने ही अवैध घुसपैठियों को बंगाल के लिए बड़ा खतरा बताया। जब घुसपैठियों का मामला जगजाहिर है तो जांच का नाटक क्यों।"

दरअसल कैनिंग विस्ट विधानसभा सीट से विधायक श्यामल मंडल ने तृणमूल कांग्रेस पर अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों के मामले में नरमी बरतने की आशंका जाहिर की है। विधायक ने कहा है कि हो सकता है कि अवैध घुसपैठियों को बसाने में तृणमूल कांग्रेस के कुछ नेता कार्यकर्ता भी शामिल हों, जिसकी जांच की जा रही है। अगर ऐसा पाया गया तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को इसकी जानकारी भी दी जाएगी। विधायक श्यामल मंडल ने यह भी कहा है कि कुछ घुसपैठिए मैंग्रोव जंगलों को काट रहे हैं और मिट्टी खोद रहे हैं। जिस पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का कहना है कि जब घुसपैठियों का मामला जगजाहिर तो फिर जांच की बात क्यों की जा रही है।(आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com