महिला उद्यमियों को परिवार का सहयोग मिले : आनंदी बेन

महिला उद्यमियों को परिवार का सहयोग मिले : आनंदी बेन
राज्यपाल आनंदी बेन और प्रधानमंत्री मोदी । ( Wikimedia commons )

मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन को ऑनलाइन सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार तो महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिये विभिन्न सुविधायें प्रदान कर रही है, परंतु उससे भी ज्यादा जरूरी है कि उन्हें परिवार का सहयोग मिले। इसके लिये सबसे पहले यह जरूरी है कि परिवार की महिलाओं के नाम से सम्पत्ति खरीदी जाए, जिससे महिलाएं अपने भविष्य के प्रति आश्वस्त हों। उन्होंने कहा कि, "महिलाओं को अपना उद्यम शुरू करने के लिये हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुद्रा लोन जैसी सुविधा शुरू की है, जिसमें दस लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है, परंतु व्यवसाय या उद्यम शुरू करने से पहले सबसे जरूरी है कि महिला उद्यमी को उस व्यवसाय से संबंधित ट्रेनिंग दी जाए। व्यवसाय की ट्रेनिंग देने के साथ-साथ प्रोडक्ट बेचने के लिये बाजार मिले, इसके प्रयास भी कान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के पदाधिकारियों को करने होंगे। इंडस्ट्रियल एरिया में महिला उद्यमियों को अपना उद्यम स्थापित करने के लिये विशेष रूप से प्लॉट मिल, इसकी व्यवस्था की ओर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है, ताकि महिला उद्यमी निश्चिंत होकर अपने उद्यम को आगे बढ़ा सकें।"

 मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल । ( Twitter )

राज्यपाल पटेल ने इस अवसर पर कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से शामिल महिला उद्यामियों से आग्रह किया कि वे अपने प्रयासों से साड़ी बैंक बनायें, जिससे जरूरतमंद महिलाओं को विशेष अवसरों पर पहनने के लिये अच्छी साड़ियां मिल सकें। यहां जरूरतमंदों के लिये विशेष कॉर्नर बनाये जा सकते हैं। जिनमें साड़ी के अलावा हमारे लिये अनुपयोगी अन्य वस्तुओं को रखा जा सकेगा, जहां से जरुरतमंद अपने उपयोग की वस्तुएं प्राप्त कर सकेंगे।

इस कार्यक्रम में मोना कटारिया ने अपने वेज वेंचर, अंजना खंडेलवाल ने बायो डीजल और शुभम वराडिया ने अपने ज्वेलरी से संबंधित व्यवसाय के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर 11 महिला उद्यमियों को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिये सम्मान पत्र दिये गए।

कान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने आयोजन के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिये राष्ट्रीय स्तर के साथ-साथ राज्य स्तरीय प्रयास भी किये जा रहे हैं तथा देश-भर के लगभग सात करोड़ उद्यमी कैट से जुड़कर काम कर रहे हैं।

कार्यक्रम का संचालन कैट मध्यप्रदेश की उपाध्यक्ष अंशु गुप्ता ने किया तथा आभार कैट मध्यप्रदेश की वरिष्ठ उपाध्यक्ष अलका श्रीवास्तव ने व्यक्त किया। (आईएएनएस)

Related Stories

No stories found.
hindi.newsgram.com