Saturday, May 15, 2021
Home इतिहास

इतिहास

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन: जिनके विचार आज भी प्रेरणास्रोत हैं!

 शिक्षा, धर्म और संस्कृति इन तीनों को गठजोड़ एक नई मिसाल को जन्म देता है। आज हम एक ऐसे व्यक्तित्व के विषय...

Bangladesh Hindu Genocide: हो गए बरस हिन्दुओं की मौत को, ‘आज’ पूछता है इतिहास क्या था?

अंग्रेजों द्वारा किए गए भारत के विभाजन के बाद, पाकिस्तान भी दो तरफ बंट चुका था। एक तरफ था पूर्वी पाकिस्तान जो कि आज का...

क्या आइज़ैक न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण की खोज की या भारत के विद्वानों ने?

दुनिया में कई महान वैज्ञानिक और शोधकर्ता हुए जिनके सिद्धांतों को आज भी पाठ्यक्रम में पढ़ाया जाता है और उन्ही के सिद्धांतों द्वारा ही...

क्या क़ुतुब मीनार एक मस्जिद या ध्रुव स्तम्भ?

क़ुतुब मीनार(Qutub Minar) मुगलिया कारीगरी का नायब अजूबा माना जाता है। इतिहासकारों ने कुतबुद्दीन ऐबक(Qutub-ud-Din Aibak) द्वारा बनाए गए इस ऐतिहासिक स्मारक के ऊपर...

भारत की सबसे पहली स्वतंत्रता सेनानी: रानी अबक्का देवी!

भारत एक ऐसा देश है जहाँ का हर एक छोर नई गाथा सुनाता है। यह वीर-भूमि भारत सदा से वीरों के गाथाओं को समेटती आ...

स्वर्ण युग के विनाशकारी एक खानाबदोश “हूण जाति” !

सदियों से हमारे भारत (India) पर कई आक्रमण हुए हैं। अलग-अलग समुदायों, प्रजातियों ने हमेशा से भारत पर अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहा है।...

सामाजिक – धार्मिक सुधार आंदोलनों का प्राचीन इतिहास !

भारत अपने गौरवशाली अतीत के लिए संपूर्ण विश्व में प्रसिद्ध है। परन्तु किसी भी देश व उसके समाज को सुधार की आवश्यकता हमेशा होती है।...

Shivaji Jayanti: वीर छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा बताया गया वह पथ, जिन पर चलना आज जरूरी है!

आज पूरा देश वीर मराठा योद्धा एवं करोड़ों लोगों के दिल में बसने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज का 391वां जयंती मना रहा है। महाराज शिवाजी को 'रयतेचा...

महाराष्ट्र : पवनगढ़ दुर्ग के पास खुदाई में मिले 17वीं शताब्दी के तोप के गोले

By : काईद नाजमी  महाराष्ट्र के कोल्हापुर में पवनगढ़ किले की प्राचीर के आस-पास के इलाकों की खुदाई में 400 से भी तोप के गोले...

बिस्मिल की फांसी ने गोरखपुर को बना दिया क्रांतिकारियों का गढ़

By: विवेक त्रिपाठी  चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष के उद्घाटन समारोह में गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि यह महज एक थाने में आगजनी की...

यह शौर्य गाथा है शहीद वीरांगना रानी अवंतीबाई की

यह भारत देश शौर्य और पराक्रम से भरा हुआ देश है। यहाँ बसने वाले वीरगाथाओं ने देश एवं विदेश में एक-एक भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा किया...

‘चौरी-चौरा की घटना के साल भर पहले गोरखपुर आए थे गांधीजी’

जंगे आजादी के पहले संग्राम (1857) में ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ पूर्वांचल के तमाम रजवाड़ों, जमीदारों (पैना, सतासी, बढ़यापार नरहरपुर, महुआडाबर) की बगावत हुई थी।...

Most Read

अमेरिका : कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों को मास्क पहनना जरूरी नहीं

अमेरिका (America) में जिन लोगों ने पूरी तरह से कोविड वैक्सीन लगवा ली है, उन्हें अब मास्क (Mask) पहनने की जरूरत नहीं...

राजकुमार राव : ऐसी फिल्में चाहता हूं जिस पर 50 साल बाद गर्व कर सकूं

राजकुमार राव को भारत के सर्वश्रेष्ठ अभिनेताओं में से एक माना जाता है। उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है और...

कोहली की फिटनेस उनके शानदार प्रदर्शन का राज : युसूफ

पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद युसूफ (Mohammad Yusuf) ने भारतीय कप्तान विराट कोहली (Indian captain Virat Kohli) की सराहना करते हुए कहा...

वायरस के खिलाफ इस युद्ध में : कईयों ने जंग जीत ली, पर कुछ हार भी गए।

पिछले एक साल से हमारी दुनिया बिल्कुल बदल चुकी है। कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रकोप के चलते सारी दुनिया में हाहाकार...