Tuesday, June 15, 2021
Home देश म्यांमार और भारत में हथियार धकेल रहा चीन, क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरा

म्यांमार और भारत में हथियार धकेल रहा चीन, क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरा

चीन म्यांमार सीमा पर विद्रोही समूहों को हथियार और गोला-बारूद की आपूर्ति कर रहा है, चीनी पिस्तौल और लेथोड्स सहित कुल 423 अवैध हथियार बरामद किए गए हैं।

म्यांमार और भारत में अवैध रूप से चीनी हथियारों का आसान प्रवाह क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता के लिए खतरा पैदा कर रहा है। खुफिया एजेंसियों ने इस संबंध में भारत सरकार को सतर्क किया है।भारत के पूर्वोत्तर राज्यों से इस साल अब तक एके-47, एम-16एस, चीनी पिस्तौल और लेथोड्स सहित कुल 423 अवैध हथियार बरामद किए गए हैं।

एजेंसियों की ख़ास रिपोर्ट

खुफिया एजेंसियों ने यह भी कहा है कि चीन म्यांमार सीमा पर विद्रोही समूहों को हथियार और गोला-बारूद की आपूर्ति कर रहा है, क्योंकि वे अच्छी कीमत चुकाते हैं।एजेंसियों ने सरकार को सतर्क करते हुए कहा, “प्रमुख विद्रोही समूहों विशेष रूप से असम, मणिपुर, नागालैंड और मिजोरम के लोग चीनी खुफिया एजेंसियों के साथ नियमित संपर्क बनाए रखते हैं और ये चीनी उदारता और हथियारों से लाभान्वित हुए हैं।”एजेंसियों ने बताया है कि उत्तर-पूर्व में विद्रोही समूहों का प्रशिक्षण, हथियारों एवं गोला-बारूद की पहुंच और निर्वासित आतंकवादियों और नेताओं को शरण देना भारत के खिलाफ चीन के ‘द्वि-आतंकवाद’ के आवर्ती (रीकरंट) पहलू हैं।

यह भी पढ़े : “सरकार का एजेंडा नौकरशाह के लिए गीता-रामायण जैसा”

म्यांमार रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण स्थान पर स्थित है। यह हिंद महासागर के व्यापार मार्गो के लिए एक वैकल्पिक भूमि पुल प्रदान करता है, मलक्का स्ट्रैट्स पर दबाव को कम करता है और यूनान प्रांत के विकास के लिए प्राकृतिक संसाधनों का एक खजाना है।

सूत्रों ने कहा कि हाल ही में एके-47 असॉल्ट राइफलों, मशीनगन, एंटी टैंक माइंस, ग्रेनेड सहित करीब 10 लाख डॉलर के गोला-बारूद से युक्त चीन निर्मित हथियारों की एक बड़ी खेप म्यांमार-थाईलैंड की सीमा पर थाईलैंड की तरफ माई सोट जिले में जब्त की गई है।

क्या क्या बरामद हुआ

हथियारों की यह एकमात्र खेप नहीं है, जो बरामद हुई है। इस साल की शुरुआत में म्यांमार और बांग्लादेश के तटीय जंक्शन के पास मोनाखाली बीच पर 500 असॉल्ट राइफल, 30 यूनिवर्सल मशीनगन, 70,000 गोला बारूद, ग्रेनेड का एक विशाल भंडार और एफ-6 चीनी मैनपैड्स धकेली गई थी। वहां से यह खेप संडाक में अराकान आर्मी कैंप तक पहुंची और फिर इसे दक्षिण मिजोरम में परवा कॉरिडोर का इस्तेमाल करते हुए राखाइन में तस्करी कर लाया गया। जब्त किए गए हथियार मूल चीनी निर्मित थे और म्यांमार सीमा पर विद्रोही समूहों के लिए तस्करी किए जाने के लिए थे, क्योंकि वे अच्छी कीमत देते हैं।

म्यांमार में, चीन वर्तमान में अराकान सेना को हथियार और गोला-बारूद की आपूर्ति कर रहा है, जो म्यांमार की सीमा से लगे चीन और राखीन राज्यों में सक्रिय है। चीन अब अराकान आर्मी का उपयोग कर रहा है, जो कि म्यांमार द्वारा आतंकवादी संगठन के रूप में घोषित किया गया है।2019 में जब कलादान परियोजना का एक चरण पूरा होने वाला था, अराकान सेना ने अपने ऑपरेशन के क्षेत्र को रखाइन और दक्षिणी चिन में स्थानांतरित कर दिया था।2019 में अराकान सेना और म्यांमार के बीच 593 से अधिक झड़पें हुईं, जिनमें से अधिकांश कलादान परियोजना के करीब थीं।

यह भी पढ़े : फेसबुक पर ज्यादातर लोग राजनीतिक कंटेंट से रहते हैं दूर

सूत्रों ने कहा कि चीन अराकन सेना की फंडिंग का 95 प्रतिशत तक प्रदान करता है।बांग्लादेश और थाईलैंड के माध्यम से आपूर्ति किए गए चीनी हथियार स्पष्ट करते हैं कि म्यांमार में भारत द्वारा शुरू किए गए प्रोजेक्ट खतरे में हैं। (आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी