Monday, June 14, 2021
Home दुनिया पाकिस्तान और चीन के बीच लगातार बढ़ रही निकटता

पाकिस्तान और चीन के बीच लगातार बढ़ रही निकटता

पाकिस्तान और चीन के बीच निकटता दिन ब दिन बढ़ती जा रही है, क्योंकि पाकिस्तान ने चीन के लिए व्यापार का दरवाजा खोल रहा है।

पाकिस्तान और चीन के बीच निकटता हर हफ्ते बढ़ती जा रही है, क्योंकि इस्लामाबाद चीन के लिए हर दरवाजा खोल रहा है, जिसमें चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) भी शामिल है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आर्थिक संकट से जूझ रहे देश में चीनी कंपनियों को अपने क्षेत्रीय कार्यालय खोलने की अनुमति दी है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने निवेशकों, व्यापारियों और कॉर्पोरेट क्षेत्र के अधिकारियों के एक चीनी प्रतिनिधिमंडल के साथ अपनी हालिया बैठक के दौरान, चीनी उद्यमियों से पाकिस्तान में अपने क्षेत्रीय कार्यालय स्थापित करने का आह्वान किया है।

खान ने कहा, “चीनी व्यापारिक घरानों को पाकिस्तान में अपने क्षेत्रीय कार्यालय स्थापित करने चाहिए।” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने चीन के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने के लिए बहुत महत्व दिया है।

उन्होंने कहा, “दोनों देशों के लोगों के लिए व्यापार-से-व्यापार संबंधों को मजबूत करना एक प्रमुख प्राथमिकता है।” उन्होंने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान व्यापार विकास और प्रगति के लिए चीनी निवेशकों को हर संभव सुविधा का आश्वासन देता है।

China Pakistan Friendship
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग। (Wikimedia Commons)

10 सदस्यीय चीनी प्रतिनिधिमंडल में ऊर्जा, संचार, कृषि, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, वित्तीय और औद्योगिक क्षेत्रों सहित महत्वपूर्ण क्षेत्रों में व्यावसायिक उपक्रम वाली कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल रहे।

पावर कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन ऑफ चाइना (पॉवर चाइना), चाइना रोड एंड ब्रिज कॉर्पोरेशन (सीआरबीसी), चाइना गेझोउबा (समूह) पाकिस्तान, चाइना थ्री गोरजेस साउथ एशिया इन्वेस्टमेंट कंपनी लिमिटेड, चाइना रेलवे ग्रुप लिमिटेड, इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना, चाइना मशीनरी इंजीनियरिंग कॉर्पोरेशन और चाइना मोबाइल पाकिस्तान लिमिटेड जैसी कंपनियों ने बैठक में हिस्सा लिया। इन कंपनियों के साथ ही बैठक में पाकिस्तान में चीनी राजदूत याओ जिंग भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- ‘लोकतंत्र दांव पर है’- पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने दी चेतावनी

याओ जिंग ने कहा, “नीति और कार्यान्वयन स्तर पर पेश किए गए विभिन्न सुधारों ने चीनी व्यापारिक समुदाय का विश्वास बढ़ाया है और पाकिस्तान को कोविड-19 के माहौल में विकास में एक प्रमुख भागीदार के रूप में देखा जा रहा है।”

उन्होंने कहा, “चीन पाकिस्तान को व्यापार के उभरते हब के रूप में देखता है।”

यह स्पष्ट रूप से साफ हो रहा है कि पाकिस्तान लगभग सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में परियोजनाओं और पहलों में सहयोग के माध्यम से अपनी अपंग आर्थिक स्थिति को पुनर्जीवित करने के लिए चीन के भरोसे पर है।

रणनीतिक और राजनीतिक विशेषज्ञ जावेद सिद्दीकी ने कहा, “वैश्विक स्तर पर पाकिस्तान के कूटनीतिक प्रयासों को उसकी कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण भुगतना पड़ा है। लेकिन चीन की देश में रुचि बढ़ने और आर्थिक सहयोग को बढ़ावा देने के साथ पाकिस्तान निश्चित रूप से कश्मीर जैसे विभिन्न मुद्दों पर अपने मामले को आगे बढ़ाने के लिए वैश्विक शक्तियों के सामने बहुत मजबूत स्थिति में होगा। और यह तभी संभव होगा जब देश वित्तीय और आर्थिक रूप से स्थिर होगा और यह चीन के सहयोग और समर्थन के साथ होगा।”(आईएएनएस)

POST AUTHOR

न्यूज़ग्राम डेस्क
संवाददाता, न्यूज़ग्राम हिन्दी

जुड़े रहें

7,623FansLike
0FollowersFollow
177FollowersFollow

सबसे लोकप्रिय

धर्म निरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ को सालों से बेवकूफ़ बनाया गया है: मारिया वर्थ

यह आर्टिक्ल मारिया वर्थ के ब्लॉग पर छपे अंग्रेज़ी लेख के मुख्य अंशों का हिन्दी अनुवाद है।

विज्ञापनों पर पानी की तरह पैसे बहा रही केजरीवाल सरकार, कपिल मिश्रा ने लगाया आरोप

पिछले 3 महीनों से भारत, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इन बीते तीन महीनों में, हम लगातार राज्य सरकारों की...

भारत का इमरान को करारा जवाब, दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए भाषण पर आईना दिखाते हुए करारा जवाब दिया...

जब इन्दिरा गांधी ने प्रोटोकॉल तोड़ मुग़ल आक्रमणकारी बाबर को दी थी श्रद्धांजलि

ये बात तब की है जब इन्दिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री हुआ करती थी। वर्ष 1969 में इन्दिरा गांधी काबुल, अफ़ग़ानिस्तान के...

दिल्ली की कोशिश पूरे 40 ओवर शानदार खेल खेलने की : कैरी

 दिल्ली कैपिटल्स के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने कहा है कि टीम के लिए यह समय है टूर्नामेंट में दोबारा शुरुआत करने का।...

गाय के चमड़े को रक्षाबंधन से जोड़ने कि कोशिश में था PETA इंडिया, विरोध होने पर साँप से की लेखक शेफाली वैद्य कि तुलना

आज ट्वीटर पर मचे एक बवाल में PETA इंडिया का हिन्दू घृणा खुल कर सबके सामने आ गया है। ये बात...

दिल्ली दंगा करवाने में ‘आप’ पार्षद ताहिर हुसैन ने खर्च किए 1.3 करोड़ रूपए: चार्जशीट

इस साल फरवरी में हुए हिन्दू विरोधी दिल्ली दंगों को लेकर आज दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल किया।...

क्या अमनातुल्लाह खान द्वारा लिया गया ‘दान’, दंगों में खर्च हुए पैसों की रिकवरी थी? बड़ा सवाल!

फरवरी महीने में हुए दिल दहला देने वाले हिन्दू विरोधी दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस आक्रमक रूप से लगातार कार्यवाही कर रही...

हाल की टिप्पणी