Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
ओपिनियन

राम मंदिर निर्माण का श्रेय लेने पहुंची कांग्रेस पार्टी ने राजीव गांधी को बताया ‘हिन्दू शेर’

रामभक्त बनने के इस होड़ में, युवा कॉंग्रेस के ट्वीटर हैंडल द्वारा एक ऐसा ट्वीट शेयर किया गया जिसमें राम मंदिर निर्माण का पूरा श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दे दिया गया।

राजीव गांधी, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री(Image: Wikimedia Commons)

दशकों के इंतज़ार के बाद,  राम जन्मभूमि अयोध्या में मंदिर की नींव तो पड़ चुकी है, लेकिन हर उपलब्धि के लिए नेहरू को श्रेय देने वाली कांग्रेस पार्टी,  राम मंदिर का श्रेय लेने में भी पीछे नहीं हटी। जी हाँ, वही कांग्रेस पार्टी जिसके वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल, सालों तक राम मंदिर के विरोध में और बाबरी के पक्ष में कोर्ट का केस लड़ते रहे, ये वही कांग्रेस पार्टी है जिसके नेता, श्री राम के अस्तित्व को सालों से काल्पनिक बताते रहे हैं। 

लेकिन भूमि पूजन की तारीख क्या नज़दीक आई, कांग्रेस के बड़े से बड़े दिग्गज नेता खुद को राम भक्त साबित करने के चक्कर में, बड़े बड़े पोस्टर डालने लग गए। लेकिन रामभक्त बनने के इस होड़ में, युवा कॉंग्रेस के ट्वीटर हैंडल द्वारा एक ऐसा ट्वीट शेयर किया गया जिसमें राम मंदिर निर्माण का पूरा श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दे दिया गया। 


यह भी पढ़ें: राम को काल्पनिक बताने वाली कांग्रेस पार्टी के कौन-कौन से नेता, अचानक बने ‘रामभक्त’? देखें

दिल्ली यूथ कांग्रेस के ट्वीट में राजीव गांधी को राम मंदिर का श्रेय ही नहीं दिया गया, बल्कि राम मंदिर की नींव रखने वाला जननायक भी बताया गया। हालांकि इस ट्वीट को बाद में हटा लिया गया। दिल्ली यूथ कांग्रेस के अलावा ‘दमन एंड दिउ कांग्रेस सेवा दल’ द्वारा भी एक ट्वीट किया गया है जिसमें श्री राम कि एक तस्वीर के साथ लिखा गया है, “मंदिर का फीता काटने वाला कोई भी हो, विवादित स्थल का ताला तोड़ कर उसे मंदिर घोषित करने वाला, एक ही हिन्दू शेर थे! (राजीव गांधी जी)”। इस ट्वीट को भी अब डिलीट कर दिया गया है। 

दिल्ली यूथ काँग्रेस द्वारा किए गए ट्वीट का स्क्रीनशॉट (डिलीट किया जा चुका है)

दमन एंड दिउ काँग्रेस सेवा दल द्वारा किए गए ट्वीट का स्क्रीनशॉट (डिलीट किया जा चुका है)

ये बात सुनने में भी हास्यास्पद है, क्यूंकी कांग्रेस की राजनीति की बुनियाद ही मुस्लिम तुष्टीकरण पर आधारित है। लेकिन अचानक से ये हृदय परिवर्तन क्यूँ देखा जा रहा है? क्या ये काँग्रेस के वैचारिक रणनीति में बदलाव का संकेत है? संभव है। खैर, वो एक अलग चर्चा का विषय है। 

यह भी पढ़ें: ‘ताजमहल’ को सबसे ज़्यादा मनमोहक मानने वालों को इन मंदिरों पर डालना चाहिए एक नज़र, बदल जाएगी सोच

Popular

मोहम्मद खालिद (IANS)

मिलिए झारखंड(Jharkhand) के हजारीबाग निवासी मृतकों के अज्ञात मित्र मोहम्मद खालिद(Mohammad Khalid) से। करीब 20 साल पहले उनकी जिंदगी हमेशा के लिए बदल गई, जब उन्होंने सड़क किनारे एक मृत महिला को देखा। लोग गुजरते रहे लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

हजारीबाग में पैथोलॉजी सेंटर चलाने वाले खालिद लाश को क्षत-विक्षत देखकर बेचैन हो गए। उन्होंने एक गाड़ी का प्रबंधन किया, एक कफन खरीदा, मृत शरीर को उठाया और एक श्मशान में ले गए, बिल्कुल अकेले, और उसे एक सम्मानजनक अंतिम संस्कार(Last Rites) दिया। इस घटना ने उन्हें लावारिस शवों का एक अच्छा सामरी बना दिया, और तब से उन्होंने लावारिस शवों को निपटाने के लिए इसे अपने जीवन का एक मिशन बना लिया है।

Keep Reading Show less

भारत आज स्टार्टअप की दुनिया में सबसे अग्रणी- मोदी। (Wikimedia Commons)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने आज अपने "मन की बात"("Mann Ki Baat") कार्यक्रम में देशवासियों से बात करते हुए स्टार्टअप के महत्व पर ज़ोर दिया। प्रधानमंत्री ने कहा की जो युवा कभी नौकरी की तलाश में रहते थे वे आज नौकरी देने वाले बन गए हैं क्योंकि स्टार्टअप(Startup) भारत के विकास की कहानी में महत्वपूर्ण मोड़ बन गया है। उन्होंने आगे कहा की स्टार्ट के क्षेत्र में भारत अग्रणी है क्योंकि तक़रीबन 70 कंपनियों ने भारत में "यूनिकॉर्न" का दर्जा हासिल किया है। इससे वैश्विक स्तर पर भारत का कद और मज़बूत होगा।

उन्होंने आगे कहा की वर्ष 2015 में देश में मुश्किल से 9 या 10 यूनिकॉर्न हुआ करते थे लेकिन आज भारत यूनिकॉर्न(Unicorn) की दुनिया में भारत सबसे ऊँची उड़ान भर रहा है।

Keep Reading Show less