Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
संस्कृति

बिहार के सीमांचल में लव जेहाद, धर्मातरण और घुसपैठ का चल रहा गंदा खेल

मिलिंद परांडे ने बिहार के सीमांचल दौरे के दौरान स्थानीय स्तर से मिली रिपोर्ट के बारे में बताया कि कटिहार, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, सीमांचल के जिले हैं जहां एक साजिश के तहत बांग्लादेशियों की घुसपैठ से डेमोग्राफी (जनसांख्यिकीय) को तेजी से बदला जा रहा है।

एक साजिश के तहत बांग्लादेशियों की घुसपैठ से सीमांचल की डेमोग्राफी तेजी से बदल रही है।(सांकेतिक तस्वीर, Pexels)

By: नवनीत मिश्र

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने बिहार के सीमांचल में चलने वाली अवैध गतिविधियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बताया है। विहिप की ताजातरीन रिपोर्ट के मुताबिक सीमांचल के चार जिलों में धर्मातरण, लव जेहाद और बांग्लादेशियों की अवैध घुसपैठ की घटनाओं में तेजी से इजाफा हुआ है। संगठन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस इलाके में ईमानदार और तेजतर्रार अफसरों की नियुक्ति की मांग करते हुए चेतावनी दी है कि जल्दी ही ठोस कार्रवाई न होने हालात चिंताजनक हो सकते हैं।


विहिप के शीर्ष नेताओं में से एक और राष्ट्रीय महासचिव मिलिंद परांडे ने बीते दिनों दिल्ली से बिहार जाकर सीमांचल के दौरे के दौरान स्थानीय लोगों के साथ कई बैठकें कीं। इस दौरान लोकल लोगों ने उन्हें इन गतिविधियों की रिपोर्ट देते हुए बताया कि प्रशासन की अनदेखी से सीमांचल धीरे-धीरे बारूद की ढेर पर खड़ा नजर आ रहा है। राष्ट्रविरोधी और हिंसक गतिविधियां बढ़ती जा रही हैं।

यह भी पढ़ें: “62 लाख हिंदुओं का रोका धर्मांतरण, साढ़े आठ लाख लोगों की कराई घर वापसी”

विहिप के राष्ट्रीय महासचिव मिलिंद परांडे ने बिहार के सीमांचल के दौरे के दौरान स्थानीय स्तर से मिली रिपोर्ट के बारे में आईएएनएस से चर्चा की। उन्होंने बताया कि बिहार के कटिहार, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया सीमांचल के जिले हैं, जो पश्चिम बंगाल से सटे हैं। आरोप लगाया कि एक साजिश के तहत बांग्लादेशियों की घुसपैठ से सीमांचल की डेमोग्राफी (जनसांख्यिकीय) तेजी से बदल रही है। किशनगंज में वर्ग विशेष की आबादी 80 प्रतिशत हो चुकी है, तो कटिहार, पूर्णिया और अररिया में भी 45 प्रतिशत आबादी है। जिसके बाद यहां बहुसंख्यकों पर हमले की घटनाएं बढ़ी हैं।

पूजा पाठ करते हिन्दू समुदाय के लोग (सांकेतिक तस्वीर, Pexels)

मिलिंद परांडे ने कहा कि स्थानीय लोगों के मुताबिक पूर्णिया में हर साल दो सौ लव जेहाद की घटनाएं हो रही हैं। विरोध करने वाले एक कार्यकर्ता पर सात बार हमला हो चुका है। इसी जिले में सुखलाल मांझी नामक व्यक्ति की बीते दिनों हत्या कर दी गई। सुखलाल मांझी की मौत के बाद परिवार के सामने जीविका का संकट हो गया, तो परिजनों की मांग पर संगठन ने चार सुअर उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। आरोप है कि मांझी की मौत पर पुलिस केस नहीं दर्ज कर रही थी, मगर विहिप के दबाव पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ।

विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने सीमांचल में बड़े पैमाने पर धर्मातरण का भी दावा किया। उन्होंने कहा कि पूर्णिया और अररिया में अनुसूचित जनजाति वर्ग की बड़ी आबादी है। पूर्णिया में उरांव तो अररिया में संथाल वर्ग के आदिवासी हैं। ऐसे में इस इलाके में ईसाई मिशनरी सक्रिय हैं। प्रलोभन देकर लोगों का धर्म बदलने पर मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले से सटे झारखंड के पाकुड़ और साहिबगंज में घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि कई आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल भी इन जिलों में मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें: अफगान में प्रताड़ित हिंदुओं, सिखों को भारत और अमेरिका से मिला समर्थन

विहिप नेता ने बिहार की सरकार से सीमांचल में चल रही गतिविधियों को लेकर चौकन्ना रहने का सुझाव दिया है। कहा कि इन इलाकों में तेजतर्रार प्रशासनिक अफसरों की तैनाती होने से ही हिंसक घटनाएं रुक सकती हैं।

बिहार के विधानसभा चुनाव से पहले विश्व हिंदू परिषद की ओर से जिस तरह से सीमांचल में अवैध गतिविधियों के खिलाफ मोर्चा खोला गया है, माना जा रहा है कि यह आगे एक बड़ा मुद्दा बन सकता है। सीमांचल की बात करें तो इसमें कुल चार जिले आते हैं। पूर्णिया, कटिहार, अररिया और किशनगंज जिलों में कुल 22 विधानसभा सीटे हैं।(आईएएनएस)

Popular

ओम बिरला ने संसद में कार्यक्रम के दौरान संसद और राज्य विधानमंडल के पीएसी के लिए साझा मंच पर जोर दिया। (Wikimedia Commons)

लोकसभा अध्यक्ष(Speaker) ओम बिरला(Om Birla) ने शनिवार को बेहतर समन्वय के लिए संसद(Parliament) और राज्य विधानमंडल में लोक लेखा समितियों के लिए एक साझा मंच की आवश्यकता पर जोर दिया।संसद भवन के सेंट्रल हॉल में लोक लेखा समिति के दो दिवसीय शताब्दी वर्ष समारोह के उद्घाटन समारोह में बिड़ला का यह सुझाव आया।लोकसभा अध्यक्ष ने सुझाव दिया कि "चूंकि संसद की लोक लेखा समिति(Public Accounts Committee) और राज्यों की लोक लेखा समितियों के बीच समान हित के कई मुद्दे हैं, इसलिए संसद और राज्य विधानसभाओं के पीएसी के लिए एक समान मंच होना चाहिए"।

बिड़ला ने कहा, "इससे कार्यपालिका का बेहतर समन्वय और अधिक पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित होगी।"उन्होंने कहा, "हर लोकतांत्रिक संस्था का मूल उद्देश्य जनता की सेवा करना, उनकी अपेक्षाओं को पूरा करना होना चाहिए।"राष्ट्र निर्माण में लोकतांत्रिक संस्थाओं की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि इन संस्थानों को लोगों की समस्याओं के समाधान और उनकी अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए प्रभावी मंच के रूप में देखा जा रहा है।

Keep Reading Show less

एजाज पटेल ने झटके 10 विकेट (Twitter)

भारत-न्यूजीलैंड(Ind vs nz) के बीच दूसरा टेस्ट मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम(Wankhede Stadium) में खेला जा रहा है। लेकिन मुंबई में जन्मे एक भारतवंशी कीवी खिलाड़ी एजाज पटेल(Ajaz Patel) ने मुकाबले के दूसरे दिन पूरी भारतीय टीम को अकेले दम पर वापस पवेलियन भेज दिया। अब टेस्ट क्रिकेट(Test Cricket) के इतिहास में एजाज पटेल तीसरे ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने 22 साल बाद एक पारी में 10 विकेट झटके हैं। उनके अलावा इंग्लैंड के खिलाड़ी जिम लेकर और भारत के दिग्गज गेंदबाज अनिल कुंबले ने ये कारनामा कर दिखाया था।

एजाज(Ejaz Patel) पहले ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होंने विदेशी जमीन पर 10/119 के अपने आंकड़ों के साथ, पटेल इंग्लैंड के जिम लेकर (1956) और भारत के अनिल कुंबले(Anil Kumble) (1999) के बाद तीसरे ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने विरोधी टीम को अकेले ही आउट कर दिया। लेकर ने 26 जुलाई, 1956 को ओल्ड ट्रैफर्ड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 10/53 का, जबकि कुंबले ने 4 फरवरी, 1999 को नई दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में पाकिस्तान के खिलाफ 10/74 का रिकॉर्ड दर्ज किया था।

Keep Reading Show less

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)

मुख्यमंत्री योगी(yogi Adityanath) शनिवार को प्रदेश शासन(Up government) के खेल विभाग की तरफ से रीजनल स्टेडियम में आयोजित ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी महाराज स्मृति तृतीय अखिल भारतीय प्राइज मनी कबड्डी प्रतियोगिता के समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीवन में स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा को आगे बढ़ाने के लिये खेल का अपना महत्व है। एक खिलाड़ी जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सकारात्मक ऊर्जा के साथ खेलता है तो वह अपने लिए नहीं बल्कि स्वस्थ समाज, प्रदेश और देश के लिए खेलता है। हर खिलाड़ी का उत्साह बढ़ाना हम सभी का दायित्व है।

उन्होंने(Yogi Adityanath) कहा कि खेल हम सबको बेहतर स्वास्थ्य और सकारात्मक भाव के साथ कार्य करने की प्रेरणा देता है। इसी को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(Narendra Modi) ने खेलो इंडिया का अभियान शुरू किया है। सबने देखा है कि 5 से 6 साल में ही खेलो इंडिया(Khelo India) के शानदार परिणाम सामने आए हैं। पहली बार कोरोना महामारी के बावजूद ओलम्पिक और पैरालम्पिक में भारतीय खिलाडियों के सबसे बड़े दल ने प्रतिभाग किया और अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

Keep reading... Show less