कॉस्मेटिक सर्जरी में हुआ इजाफा और सबसे ज्यादा इसमें पुरूषों की संख्या!

ज़ूम कॉल या गूगल मीट पर ज्यादा वक्त बिताने के कारण दुनिया भर में लोगों में कॉस्मेटिक सर्जरी कराने की प्रवृति में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ है।

0
227
Work from home
सबसे ज्यादा जिस कल्चर में तेजी आई है, वह है वर्क फ्रॉम होम। (Pexel)

2020 में आए नोवल कोरोना वायरस (Corona Virus) ने सम्पूर्ण विश्व में उथल – पुथल मचा दिया है। कोविड संक्रमण से बचने के लिए मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, लॉकडाउन, सैनिटाइजर कई तमाम चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। तेजी से फैलती महामारी की चेन को रोकने के लिए 2020 में सम्पूर्ण विश्व में लॉकडाउन लगाया गया था। लोगों की नौकरियां, बच्चों की पढ़ाई, दुकानें, बाजार सभी लॉकडाउन का शिकार हो चले।

कहते हैं, इस दुनिया में ढूंढों तो मंजिल तक पहुंचने के कई रास्ते मिल जाते हैं। ठीक उसी तरह पूरे विश्व ने लॉकडाउन से इतर एक नया रास्ता खोज लिया था। वर्क फ्रॉम होम, ऑनलाइन क्लासेस, ऑनलाइन मार्केटिंग आदि। सबसे ज्यादा जिस कल्चर में तेजी आई है, वह है वर्क फ्रॉम होम (Work From Home)। जहां ऑनलाइन, गूगल मीट (Google Meet) या ज़ूम कॉल (Zoom Call) पर मीटिंग की जाती है। काम किया जाता है। 

मजेदार बात जानने योग्य यह है कि, ज़ूम कॉल या गूगल मीट पर ज्यादा वक्त बिताने के कारण दुनिया भर में लोगों में कॉस्मेटिक सर्जरी (Cosmetic Surgery) कराने की प्रवृति में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ है। इसका कारण यह है कि, ज़ूम कॉल या गूगल मीट पर बढ़ती मीटिंग के कारण लोगों ने बहुत लंबे समय तक खुद को लगातार बड़े गौर से कैमरे में देखा है। आमतौर पर ऑफिस में लोग, मीटिंग में, लंच पर एक दूसरे से मिलते हैं। एक दूसरे को देखते हैं। लेकिन कॉन्फ्रेंस कॉल में लोग अपने आप को काफी नोटिस करते हैं। अपने आप को दूसरों से तुलना करते हैं। मजे की बात यह है कि, इसमें से आधे से ज्यादा संख्या पुरुषों की है। पहले पुरुषों के आंकड़े 10 प्रतिशत से भी नीचे हुआ करते थे। लेकिन अब इनकी संख्या में वृद्धि हुई है। 

Work From Home
ज़ूम कॉल या गूगल मीट पर बढ़ती मीटिंग के कारण लोगों ने बहुत लंबे समय तक खुद को लगातार बड़े गौर से कैमरे में देखा है। (Pexel)

पहले लोग कॉस्मेटिक सर्जरी से डरते थे। लेकिन अब सर्जरी कराने वाले लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। फ्रांस में प्लास्टिक सर्जरी में करीब 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। ब्रिटेन की एक कंपनी सेव – फेस के प्रमुख एश्टन कॉलिन्स बताते हैं कि, उनके साथ 852 कॉस्मेटिक सर्जन जुड़े हुए हैं। इस संक्रमण के दौरान सेव – फेस का व्यापार काफी बढ़ा है। इटली में भी प्लास्टिक सर्जरी एसोसिएशन के प्रमुख डॉ. पीयर फ्रांसिस्को सीरिलो बताते हैं कि, अकेले रोम में 12 प्रतिशत मामलों की बढ़ोतरी हुई है। 

यह भी पढ़ें :- शरीर के वजन व कोलेस्ट्रॉल के ‘खराब’ स्तर से हो सकता है कोविड का खतरा

न्यूयॉर्क में 57 साल की अभिनेत्री किम का कहना है कि, ज़ूम पर खुद को देखते हुए उन्हें एहसास हुआ कि, उनका वजन 10 पाउंड बढ़ गया है और उनकी स्किन भी खराब दिख रही है। तभी उन्होंने लॉकडाउन में ही अपना फेस लिफ्ट कराया। इसी तरह ऐसे कई लोग हैं, जिन्होंने पिछले एक साल में अपने फेस की सर्जरी कराई है। प्लास्टिक सर्जरी की मदद से लोग अपना चेहरा और शरीर बदल रहे हैं। इससे आगे चल कर उन लोगों में कई बीमारी का जन्म हो सकता है। ये सर्जरी हमारे शरीर और चेहरे दोनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

जिस वजह से मरीजों की तादाद धीरे – धीरे बढ़ती जाएगी। जो एक गंभीर चिंता का विषय है। लोगों को समझना चाहिए कि वह अपने आप को एक कैमरे में देख रहे हैं और केवल कैमरे के हिसाब से खुद में इतना बदलाव नहीं करना चाहिए। सर्जरी बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। 

जरूरी है, अपने शरीर, चेहरे की देखभाल करना और इसका सबसे अच्छा उपाय व्यायाम (Exercise) है। व्यायाम से हम अपने शरीर का वजन भी कम कर सकते हैं। हमारी स्किन भी अच्छी हो सकती है। 7 – 8 घंटे लैपटॉप पर काम करने से दिमाग और आंखों को नुकसान पहुंचता है, उसे भी हम व्यायाम के माध्यम से शांत कर सकते हैं। एक कैमरे में सुंदर दिखने के लिए किसी को भी कॉस्मेटिक सर्जरी का सहारा नहीं लेना चाहिए। व्यायाम से खुद को बदलिए। करोड़ों आमदनी खर्च करके एक प्लास्टिक सर्जरी से नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here